संगठित अपराध व संपत्ति हड़पने पर पुलिस करेगी सख्त कार्रवाई, जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. भुजबल की जानकारी

    यवतमाल. यवतमाल शहर में संगठीत अपराधिक गिरोह और इसके सरगना द्वारा शस्त्रों की धौंस और दबाव बनाकर भुखंड और संपत्ती हडपने से जुडे मामले सामने आए है.इनमें बोगस कागजात के आधार पर भुखंड हडपे गए है, एैसी शिकायतें भी पुलिस विभाग को मिली है. इन गंभीर मामलों को देखते हुए पुलिस विभाग द्वारा इस तरीके से संगठीत अपराध को अंजाम देनेवाले अपराधीयों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जा रहे है.

    इस तरह के मामलों में जिनपर अन्याय हुआ है, एैसे नागरिक शिकायतें दर्ज करने आगे आए, पुलिस विभाग और प्रशासन उनके साथ खडा है, एैसी जानकारी जिला पुलिस अधिक्षक डा.दिलीप पाटील भुजबल ने पत्रपरिषद में दी.उन्होने बताया की, भुखंड हडपने से जुडे 4 मामलें हाल ही में शहर और अवधुतवाडी पुलिस थाने में दर्ज कीए गए है, जिनकी पुलिस जांच कर रही है.

    संगठीत अपराधिक तत्वों नें शस्त्रों की धौंस जमाते हुए और अपराधीक दबाव बनाकर अनधिकृत तरीके से कीसी के प्लॉट, संपत्तीयां हडपी हो तों पिडीत निर्भयता से पुलिस थानों में शिकायत करें.एैसे तत्वों पर नकेल कसकर कारवाई करने स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टिम तैयार की गयी है.इसके लिए पुलिस राजस्व विभाग, भूमि अभिलेख कार्यालय, नगरपालिका से मदद ले रही है.फर्जी दस्तावेज बनाकर संपत्ती हडपने के मामले पाए जाने पर उन्हे खारीज करने एसआयटी से मदद ली जाएंगी.

    इसके अलावा भुखंड हडपने के लिए बोगस तौर पर दर्ज फेरफार खारीज करने और दिवानी दावे दाखिल करने के लिए यह एसआयटी कानुनी तौर पर भी पिडीतों को मदद करेंगी.संगठीत अपराधिक गिरोह बनाकर संपत्ती, प्लाट हडपनेवालों के खिलाफ पुलिस निडरता से कारवाई कर रही है.एैसी जानकारी भी जिला पुलिस अधिक्षक भुजबल ने दी.

    बता दें की अवधुतवाडी पुलिस थाने में दिपक मधुकर पाटील तथा उनके परिवार की पुश्तैनी खेती को हडपकर राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए मिला मुआवजा हडपने और दस्तावेजों की हेरफेर कर संपत्ती हडपने के मामलें में दर्ज शिकायत दर्ज होने के बाद कल ही विशेष जांच दस्ते ने कुख्यात आनंद उर्फ बंटी जयस्वाल निवासी छोटी गुजरी ईतवारा चौक समेत गोपाल दीपकचंद बख्तीयार निवासी रंगोली ग्राउंड यवतमाल को आंध्रप्रदेश के तिरुपती शहर में धरदबोचा, पुलिस में शिकायत दर्ज होने और जांच के दौरान यह दोनों फरार हो चुके थे, इसके अलावा इस मामलें में अन्य दो आरोपीयों की सरगर्मी से पुलिस तलाश में जुटी हुई है.

    इसी बीच इस कारवाई को अंजाम देनेवाले सायबर सेल के पुलिस निरीक्षक अमोल पुरी, एलसीबी के एपीआय गजानन करेवाड, जमादार गजानन डोंगरे, कविश पालेकर, उल्हास कुरकुटे, मोहम्मद भगतवाले, पंकज गिरी, प्रविण कुठे इस दस्ते ने अंजाम दिया.जिससे जिला पुलिस अधिक्षक ने 50 हजार रुपयों का रिवार्ड घोषित कीया गया है.