बेमौसम बारिश से सोयाबीन की फसल को नुकसान

    शेंबालपिंपरी. बेमौसम बारिश से पूरे राज्य में किसान बेहाल हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि मानसून खरीफ सीजन के दौरान काटी गई सोयाबीन, मूंग, उड़द और ज्वार फसलों की कटाई के दिनों में बारीश रुकने का नाम ही नहीं ले रही है. जिससे  मौजूदा स्थिति में किसानों को भारी नुकसान होने के कगार पर है. ऐसे में किसान परेशान है.

    वर्तमान में फसल निकासी व कटाई पर होने के बाद सोयाबीन की खड़ी फसल की फल्लियां अंकुरीत होने के कगार पर है. सोयाबीन काला पड रहा है, जिससे व्यापारी मार्केट मूल्य से कम किमते में इसे खरीदेंगे, ऐसा कहने की नौबत आ गई है.

    एक माह पहले सोयाबीन को 10 से 12 हजार का मूल्य का मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल देखने को मिल रहा था. लेकिन अब सोयाबीन की फसल कटाई की राह पर है और सोयाबीन को 6 हजार रुपए मूल्य का मैसेज वायरल होता दिख रहा है. 

    अगर देश के लिए अनाज पकानेवाला किसान संकट में है, तो देश का भविष्य अंधकारमय होगा. सरकार को इस गंभीर मुद्दे पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है. और केंद्र और राज्य सरकार किसानों को राहत देकर किसानों के हित में निर्णय लेने की जरूरत है.