हरीश रावत के बयान पर कैप्टन का पलटवार, कहा- सारी दुनिया ने मेरा अपमान देखा

    चंडीगढ़: पंजाब कांग्रेस का घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने शुक्रवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए कहा था कि कांग्रेस ने जो किया कॅप्टन के लिए किया। इस पर पलटवार करते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा की आलोचक भी मुझ पर उंगली नहीं उठा सकते। कॅप्टन ने कहा कि दुनिया ने मेरा अपमान देखा है, फिर भी रावत उसके विपरीत दावे कर रहे है। यह अपमान नहीं तो क्या था।   

     क्यों दी गई सिद्धू को खुली छूट

    कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा की  अगर पार्टी का इरादा मुझे अपमानित करने का नहीं था तो नवजोत सिंह सिद्धू को महीनों तक सोशल मीडिया और अन्य सार्वजनिक मंचों पर मेरी खुलेआम आलोचना करने और हमला करने की अनुमति क्यों दी गई? पार्टी ने सिद्धू के नेतृत्व वाले बागियों को मेरे अधिकार को कम करने के लिए खुली छूट क्यों दी।

    हरीश रावत ने उठाया सवाल 

    पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने कहा था कि रिपोर्ट में कोई तथ्य नहीं है कि राज्य कैप्टन अमरिंदर सिंह का कांग्रेस द्वारा अपमान किया गया था। कैप्टन के हालिया बयानों से लगता है कि वह किसी तरह के दबाव में हैं। उन्हें पुनर्विचार करना चाहिए, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से भाजपा की मदद नहीं करनी चाहिए।  

    उन्होंने कहा की  हाल ही के कैप्टन के बयान ऐसे हैं जैसे वे किसी दबाव में हैं। रावत ने कहा कि कैप्टन किसान विरोधी भाजपा के मददगार न बनें। ये समय सोनिया गांधी के साथ खड़े होने का है। कांग्रेस पार्टी ने अब तक जो कुछ किया है वह कैप्टन अमरिंदर सिंह के सम्मान के लिए और 2022 विधानसभा चुनाव में पार्टी की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए किया है।

    कैप्टन नहीं निभा पाए वादें 

    रावत ने कहा कि कम से कम 5 बार मैंने कैप्टन साहब के साथ इन मुद्दों पर चर्चा की लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। अपने सहयोगियों और नेतृत्व से लगातार याद दिलाने के बावजूद  भी दुर्भाग्य से कैप्टन अमरिंदर बरगदी, ड्रग्स, बिजली आदि जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपने वादों को निभाने में विफल रहे।