कांग्रेस नेता सुखपाल खैरा को ईडी ने किया गिरफ्तार, 2015 से चल रही जांच

    चंडीगढ़: कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक सुखपाल खैरा को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया है। ईडी 2015 से इस मामले पर जांच कर रही है। इसी काम में आज उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया था, जहां उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। ज्ञात हो कि, सुखपाल इसी वर्ष जून में आम आदमी पार्टी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए थे। 

    उन्होंने कहा कि 56 वर्षीय खैरा को पंजाब में केंद्रीय जांच एजेंसी ने धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत हिरासत में लिया। एजेंसी ने इस साल मार्च में खैरा के परिसरों पर छापेमारी की थी। ईडी ने आरोप लगाया है कि खैरा मादक पदार्थ मामले के दोषियों और फर्जी पासपोर्ट गिरोहों के ‘सहयोगी’ हैं।

    खैरा ने किसी भी गलत काम से इनकार किया और कहा है कि केंद्रीय एजेंसियों द्वारा उन्हें निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि वह केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ मुखर रहे हैं। उन्होंने हाल ही में पंजाब विधानसभा से इस्तीफा दिया था।

    खैरा ने 2017 में पंजाब के कपूरथला जिले की भोलाथ विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी (आप) के टिकट पर विधानसभा चुनाव जीता था। उन्होंने जनवरी 2019 में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली ‘आप’ की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया और अपनी खुद की पार्टी ‘पंजाब एकता पार्टी’ बनाई। इसके बाद वह फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए।