Minor Rape
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

    जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में बेटियों की सुरक्षा (Girls Security) लगातार सवालों के घेरे में हैं। नागौर जिले में सात साल की एक बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस के अनुसार आरोपी पीड़िता का पड़ोसी था जिसे हिरासत में ले लिया गया है।

    पादु कल्ला के थानाधिकारी अशोक बिशु ने बताया कि घटना सोमवार रात की है। आरोपी दिनेश जाट (20) बच्ची को उसके घर से अगवा का सुनसान जगह पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

    बिशु ने कहा कि आरेापी के खिलाफ अपहरण, दुष्कर्म एवं हत्या का मामला दर्ज किया गया है और उसे हिरासत में ले लिया गया है। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार को सौंपा जाएगा। नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल ने आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांगी है।

    बेनीवाल ने ट्वीट किया,‘‘मेड़ता विधायक इंदिरा बावरी ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाने का प्रयास किया है। मामले की गहनता से तफ्तीश करने एवं आरोपी के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश पुलिस को दिए गये हैं, यदि इस मामले में अन्य लोगों की संलिप्तता सामने आती है तो उन्हें भी गिरफ्तार करके उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही की जाए।’

    बलात्कार के मामलों में नंबर एक राजस्थान 

    राजस्थान बलात्कार के मामलों में देश में पहले स्थान पर है। बीते दिनों एनसीआरबी द्वारा जारी किए गए आकड़ो के अनुसार, 2020 में देश के अंदर जितने भी बलात्कार के मामले हुए हैं, उनमें राजस्थान पहले क्रमांक पर हैं। राज्य में बलात्कार के 5,310 मामले दर्ज किए गएकुल बलात्कार पीड़ितों में से 1,279 18 वर्ष से कम उम्र के हैं जबकि 4,031 वयस्क हैं।