हिमाचल प्रदेश: भूस्खलन के बाद सड़क बंद होने से किन्नौर में फंसे 60 से अधिक यात्री

     शिमला: हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में 25 जुलाई को कई बार भूस्खलन होने से सड़कें बंद हो गईं, जिसके चलते लगभग 60 से 80 पर्यटक दो गांवों में फंस गए। एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

    किन्नौर के उपायुक्त आबिद हुसैन सिद्दीक ने कहा कि, ये पर्यटक बास्पा घाटी के अंतिम गांवों छितकुल और रक्षक में फंसे हुए हैं, क्योंकि भूस्खलन के बाद सांगला-छितकुल मार्ग को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि सड़क से भारी पत्थरों को हटाने में जिला प्रशासन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

    अधिकारी ने कहा कि, सेब के बागों के मालिक सड़क के नीचे स्थित उनके बागों के पास पत्थर फेंके जाने पर आपत्ति जता रहे हैं। सिद्दीक ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि मंगलवार शाम तक सड़क यातायात के लिए खोल दी जाएगी। किन्नौर के बस्तेरी के पास रविवार को एक टेंपो यात्री पर भारी पत्थर गिरने से नौ पर्यटकों की मौत हो गई थी। सांगला-छितकुल मार्ग पर बस्तेरी के पास बारिश के कारण कई भूस्खलन हुए, जिसके परिणामस्वरूप एक पुल गिर गया और कुछ वाहनों को नुकसान पहुंचा। (एजेंसी)