Jharkhand Violence
PHoto: Jharkhand Violence@ANI/Twitter

    रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर रांची में विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा की जांच के लिए शनिवार को दो सदस्यीय उच्चस्तरीय जांच समिति का गठन किया। 

    मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि सोरेन ने हिंसा की जांच के लिए आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल और अपर पुलिस महानिदेशक (अभियान) संजय लाटकर की दो सदस्यीय उच्चस्तरीय जांच समिति गठित की है, जिसे एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया है। इस बीच, हिंसाग्रस्त रांची शहर में शनिवार को पूरी तरह शांति और व्यवस्था बनी रही तथा कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं मिली।

    झारखंड के पुलिस महानिरीक्षक (अभियान) एवं राज्य पुलिस के प्रवक्ता ए. वी. होमकर ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि आज रांची में कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली और शुक्रवार को हुई हिंसा के केंद्र रहे मेन रोड तथा उसके आपपास के इलाकों में पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों की भारी तैनाती की गई है।

    इस बीच, पुलिस सूत्रों ने बताया कि हिंसा के सिलसिले में पुलिस ने आज आधा दर्जन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया और उनसे पूछताछ की जा रही है। गृह विभाग के निर्देश पर हिंसा की घटनाओं के मद्देनजर कल शाम इंटरनेट सेवाओं पर लगाई गई रोक को रविवार सुबह छह बजे तक बढ़ा दिया गया है।  विभाग के सूत्रों ने बताया कि रांची की स्थिति को देखते हुए कल सुबह इंटरनेट सेवाओं की बहाली के बारे में फैसला लिया जाएगा। (एजेंसी)