दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Photo Credits-ANI Twitter)
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Photo Credits-ANI Twitter)

    मोहाली:  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि वह पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के पास ‘शून्य’ राशि वाले दिल्ली के बिजली बिल की एक लाख प्रतियां भेज रहे हैं और उन्हें चुनौती दी कि वह अपने राज्य के केवल एक हजार ऐसे बिल दिखा दें।

    केजरीवाल ने यहां एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी आम आदमी पार्टी (आप) नि:शुल्क बिजली जैसे वादों को पूरा करती है जबकि मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता चन्नी ‘‘प्रति दिन फर्जी घोषणाएं” करते हैं।

    केजरीवाल ने पिछले वर्ष घोषणा की थी कि दिल्ली के जिन घरों में 200 यूनिट तक बिजली की खपत होती है वहां सौ फीसदी सब्सिडी मिलेगी। 201 से 400 यूनिट वाले उपभोक्ताओं को करीब 50 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है। पंजाब में मुख्य विपक्षी दल आप ने घोषणा की है कि अगर वह 2022 के विधानसभा चुनाव जीतती है तो राज्य में 300 यूनिट बिजली माफ करेगी।  केजरीवाल ने सभा में दिल्ली के उपभोक्ताओं के एक लाख बिजली बिल को पेश किया और दावा किया कि ये ‘‘शून्य बिल” हैं।

    आप के नेता ने दावा किया कि दिल्ली में 70 से 75 प्रतिशत लोगों को शून्य राशि का बिजली बिल प्राप्त होता है और इसके बावजूद वहां 24 घंटे बिजली आपूर्ति होती है। आप की घोषणा के बाद चन्नी ने दावा किया कि राज्य में बिजली ‘‘नि:शुल्क” है।

    इस पर केजरीवाल ने वहां मौजूद लोगों से पूछा कि क्या उनमें से किसी को अभी तक शून्य राशि वाला बिजली बिल मिला है। आप नेता ने पूछा, ‘‘क्या वह (चन्नी) झूठ बोलते हैं।’ (एजेंसी)