gehlot
Pic: ANI

Loading

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के टोंक में इंदिरा गांधी रसोई (ग्रामीण) योजना का राज्य स्तरीय शुभारंभ भी किया गया। इस दौरान प्रियंका गांधी भी मौजूद थी। इस दौरान गहलोत ने गांधी परिवार पर उंगली उठाने पर भाजपा को घेरा। उन्होंने कहा, ”गांधी परिवार से कोई भी 30 वर्षों में पीएम या सीएम नहीं बना फिर पीएम मोदी गांधी परिवार से इतना डरते क्यों हैं।” 

सीएम गहलोत ने आगे कहा, ”30 साल से गांधी परिवार का कोई भी सदस्य पीएम, सीएम या केंद्रीय मंत्री नहीं बना। उन्होंने 30 साल तक कोई पद नहीं संभाला। देश के आठ लाख गांव में कांग्रेस के कार्यकर्ता रहते हैं। ये कार्यकर्ता और जनता गांधी परिवार को चाहती है। यह परिवार सभी धर्म और जाति के लोगों, और भाषा वालों के साथ है। कांग्रेस अलग-अलग प्रदेशों में रहने वाले लोगों की केंद्र बिंदु बनी हुई है। कांग्रेस धुरी बनी हुई है। मैं पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से पूछना चाहता हूं कि वे गांधी परिवार के नाम से क्यों डरते हैं।”

गहलोत ने यह भी कहा कि देश में जिस तरह का माहौल है वह खतरनाक है, लोकतंत्र खतरे में है और संविधान की धज्जियां उड़ रही है। उन्होंने कहा कि लोग चिंतित हैं क्योंकि न्यायपालिका दबाव में है, आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) जैसी एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार को उनके काम के लिए देशभर में सराहना मिली है।   

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘राजस्थान शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य मापदंडों में अग्रणी है। हमारी वित्तीय विकास दर आंध्र प्रदेश के बाद दूसरे नंबर पर है। पिछले चार वर्षों में हमारी जीडीपी छह लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गई है, जो इस वित्तीय वर्ष के अंत तक 15 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगी। हमारा 2030 का लक्ष्य जीडीपी बढ़ाकर 30 लाख करोड़ रुपये करने का है।” 

उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय दर्जा देने का राजस्थान से झूठा वादा किया था क्योंकि उन्होंने इसे पूरा नहीं किया। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने लोगों से कहा कि वे निर्णय करें कि कौन सा नेता, विचारधारा या लोग राज्य के हित में काम कर रहे हैं।  

उन्होंने कहा, ‘‘तीन महीने बाद राजस्थान में चुनाव हैं..हम सभी को यह देखना होगा कि कौन सा नेता, विचारधारा या लोग राज्य के हित में काम कर रहे हैं, और वे कौन से लोग हैं जो सिर्फ वोट हासिल करने के लिए काम करते हैं।”  उन्होंने कहा कि ऐसी ताकतें चाहे कितना भी गुमराह करने की कोशिश करें, लोग सही फैसला लेंगे और राजस्थान और अन्य राज्यों में कांग्रेस को वोट देंगे।  पायलट ने प्रियंका गांधी से राज्य का बार-बार दौरा करने का आग्रह किया क्योंकि राज्य के लोग उन्हें पसंद करते हैं। पायलट ने कहा कि जहां भी उन्होंने (प्रियंका गांधी ने) प्रचार किया है, चाहे वह हिमाचल प्रदेश हो या कर्नाटक वहां कांग्रेस पार्टी की सरकार बनी है। 

गहलोत ने यह भी कहा कि देश में जिस तरह का माहौल है वह खतरनाक है, लोकतंत्र खतरे में है और संविधान की धज्जियां उड़ रही है। उन्होंने कहा कि लोग चिंतित हैं क्योंकि न्यायपालिका दबाव में है, आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) जैसी एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है।   

गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार को उनके काम के लिए देशभर में सराहना मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘राजस्थान शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य मापदंडों में अग्रणी है। हमारी वित्तीय विकास दर आंध्र प्रदेश के बाद दूसरे नंबर पर है। पिछले चार वर्षों में हमारी जीडीपी छह लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गई है, जो इस वित्तीय वर्ष के अंत तक 15 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगी। हमारा 2030 का लक्ष्य जीडीपी बढ़ाकर 30 लाख करोड़ रुपये करने का है।” उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय दर्जा देने का राजस्थान से झूठा वादा किया था क्योंकि उन्होंने इसे पूरा नहीं किया। (भाषा इनपुट के साथ)