File Pic
File Pic

    चंडीगढ़: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने शनिवार को कहा कि सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar) पार्टी के लिए काफी अहम है और पार्टी को उन्हें नहीं खोना चाहिए। जाखड़ के पार्टी छोड़ने की घोषणा के तुरंत बाद सिद्धू ने कहा कि किसी भी मतभेद को बातचीत के जरिये सुलझाया जा सकता है।

    जाखड़ ने कांग्रेस से अलग होने संबंधी अपने फैसले की घोषणा की। पिछले महीने उन्हें कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए पार्टी के सभी पदों से हटा दिया गया था। सिद्धू ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘कांग्रेस को सुनील जाखड़ को नहीं खोना चाहिए। वह पार्टी के लिए सोने (स्वर्ण) जितने मूल्यवान हैं…किसी तरह के मतभेद को बैठकर हल किया जा सकता है।”

    जाखड़ ने शनिवार को कांग्रेस को अलविदा कह दिया। उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी से अलग होकर आज उसे मैं उपहार दे रहा हूं। कांग्रेसजनों को ये मेरे आखिरी शब्द हैं। भविष्य के लिए शुभकामनाएं और अलविदा कांग्रेस।”

    कांग्रेस की पंजाब इकाई के पूर्व प्रमुख जाखड़ 11 अप्रैल को मिले ‘कारण बताओ’ नोटिस को लेकर पार्टी से नाराज थे। उन्होंने कांग्रेस की अनुशासनात्मक समिति को नोटिस का जवाब नहीं दिया था।

    जाखड़ ने अपने फेसबुक पेज पर ‘‘दिल की बात” में ‘‘दिल्ली में बैठे” कुछ नेताओं, खासकर अंबिका सोनी पर निशाना साधा और कहा कि जब तक ऐसे नेताओं से कांग्रेस को मुक्ति नहीं मिलेगी, तब तक वह पंजाब में अपना जनाधार नहीं बना सकती। (एजेंसी)