Tension in Haldani, Uttarakhand
ANI Photo

Loading

हलद्वानी. उत्तराखंड (Uttarakhand)के हल्दानी (Haldani) में गुरुवार को अतिक्रमण हटाने पर बवाल मच गया। जिसके बाद उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव और आगजनी की। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक आज अतिक्रमण हटाओ अभियान के बाद हलद्वानी के बनभूलपुरा में हिंसा भड़क उठी। नगर निगम ने का बुलडोजर मलिक के बगीचे, अवैध मदरसे और नमाज स्थान पर चला। इसी दौरान उपद्रवियों ने कई गाड़ियों और ट्रांसफार्मर को आग के हवाले कर दिया। साथ ही मुस्लिम महिलाओं और युवकों ने पुलिस, नगर निगम की टीम और पत्रकार पर पथराव किया। नैनीताल के डीएम ने बनभूलपुरा में कर्फ्यू लगा दिया है और दंगाइयों को देखते ही गोली मारने का आदेश दिया है।

उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा, “हल्द्वानी के बनभूलपुरा इलाके में प्रशासन की एक टीम कोर्ट के आदेश के बाद अतिक्रमण विरोधी अभियान के लिए गई थी। वहां असामाजिक तत्वों ने पुलिस के साथ विवाद किया। कुछ पुलिस कर्मियों और प्रशासनिक अधिकारियों को चोटें आईं। पुलिस और केंद्रीय बलों की अतिरिक्त कंपनियां वहां भेजी जा रही हैं। हमने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है। कर्फ्यू लगा हुआ है। आगजनी करने वाले दंगाइयों और अतिक्रमणकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

पुलिस पर फायरिंग

उत्तराखंड के डीजीपी अभिनव कुमार ने कहा, “आज शाम करीब 4 बजे कोर्ट के आदेश पर जिला प्रशासन और पुलिस की संयुक्त टीम बनभूलपुरा, हल्द्वानी में अतिक्रमण विरोधी अभियान चला रही थी। जिसका विरोध करते हुए कुछ असामाजिक तत्वों ने पथराव और आगजनी की। यह भी कहा जा रहा है कि अवैध हथियारों से पुलिस पर फायरिंग की गई।”

मौके पर भारी पुलिस बल तैनात

उन्होंने कहा, “डीआइजी कुमाऊं तुरंत मौके पर पहुंचे और वहां अतिरिक्त पुलिस बल भी बुला लिया गया है। राज्य सरकार ने गृह मंत्रालय से अतिरिक्त पुलिस बल की भी मांग की है। गृह मंत्रालय ने हमें अतिरिक्त केंद्रीय बलों की 4 कंपनियां उपलब्ध कराई हैं। कुछ देर पहले सीएम ने अपने आवास पर इमरजेंसी बैठक बुलाई है।”

कुमार ने कहा, “फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। मेरे पास उपलब्ध जानकारी के अनुसार कई पुलिस कर्मियों और प्रशासन के अधिकारियों को चोटें आईं और उन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। आने वाले दिनों में घटना के पीछे के लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”