A new version of the Akash Missile Akash Prime

    चांदीपुर. रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) (DRDO) ने सोमवार को आकाश मिसाइल (Akash Missile) के एक अपडेटेड वर्जन ‘आकाश प्राइम’ (Akash Prime) का सफल परीक्षण किया। डीआरडीओ ने इसका परीक्षण ओडिशा (Odisha) के चांदीपुर (Chandipur) से लॉन्च किया। मिसाइल ने सुधार के बाद अपने पहले उड़ान परीक्षण में दुश्मन के विमानों की नकल करते हुए एक मानव रहित हवाई लक्ष्य को रोका और नष्ट कर दिया। यह परीक्षण शाम साढ़े चार बजे किया गया।

    एक अधिकारी ने कहा, “वर्तमान आकाश प्रणाली की तुलना में ‘आकाश प्राइम’ में सटीकता के लिए आर एफ का पता लगाने की स्वदेशी तकनीक लगी है। अन्य सुधार के चलते भी ऊंचाई पर कम तापमान वाले वातावरण में यह भरोसेमंद प्रदर्शन कर सकती है।”

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ), भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और अन्य हितधारकों को ‘आकाश प्राइम’ के सफलतापूर्वक परीक्षण के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि सफल परीक्षण से यह सिद्ध होता है कि डीआरडीओ विश्व स्तरीय मिसाइल प्रणाली का विकास करने में सक्षम है।

    डीआरडीओ के अध्यक्ष जी. सतीश रेड्डी ने भी मिसाइल का परीक्षण करने वाली टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि ‘आकाश प्राइम’ प्रणाली से भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना का मनोबल और ऊँचा होगा। (एजेंसी इनपुट के साथ)