representational image
प्रतीकात्मक तस्वीर

    सलेम: तमिलनाडु के सलेम जिले के एक गांव के रहने वाले 19 वर्षीय लड़के ने राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा से चंद घंटे पहले रविवार को आत्महत्या कर ली। वह तीसरी बार इस परीक्षा में शामिल होने वाला था।

    मेत्तूर रेंज के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि,‘‘लड़के की मां ने उसे तड़के तीन बजकर करीब 45 मिनट पर घर में फंदे से लटका पाया और इसके बाद परिवार ने हमें सूचना दी।” यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें कोई सुसाइड नोट मिला है, पुलिस अधिकारी ने कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया

    बताया कि लड़का तीसरी बार परीक्षा देने वाला था, क्योंकि इससे पहले दो बार वह उसमें पास नहीं हो सका था। उन्होंने बताया कि कोझाइयूर गांव के रहने वाले धनुष का शव पोस्टमॉर्टम के बाद परिजन को सौंप दिया गया।

    इस बीच, विकास पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन ने दुख व्यक्त किया और दुखद घटना के लिए केंद्र को दोषी ठहराया। तमिलनाडु में छात्रों और राजनीतिक दलों द्वारा नीट का कड़ा विरोध किया गया है