हजारीबाग के 79180 जरूरत मंद लोगों को मिला हरा राशन कार्ड, एक रुपए प्रति किलो की दर से मिलेगा सूखा अनाज

    ओम प्रकाश मिश्र 

    रांची : हजारीबाग (Hazaribagh) की शारदा मोसमात  मुश्किल से अपनी जीविका चला पाती थीं। खाद्य सुरक्षा योजना से वंचित होने की वजह से उन्हें अन्न भी प्राप्त नहीं हो रहा था, लेकिन आज शारदा खुश हैं। राज्य सरकार (State Government) ने उन्हें हरा राशन कार्ड (Green Ration Card) प्रदान किया है। शारदा को जीविकोपार्जन में हो रही परेशानी अब कल की बात हो गई। चौपारण प्रखंड के दैहर ग्राम निवासी विधवा शारदा का हरा राशन कार्ड बन जाने से एक रुपये किलो की दर से राशन मिल रहा है।

    इससे उनकी खाद्य संबंधी चिंता खत्म हुई है। ऐसे ही केरेडारी प्रखंड की पताल गांव निवासी अनिता देवी के परिवार में चार सदस्य है। वे बताती हैं – परिवार मजदूरी कर गुजर-बसर करता है। पिछले लॉकडाउन में घर वापस आने के बाद काम धंधा बंद हो गया था। परिवार को चलाने में काफी परेशानी हो रही थी। इस दौरान हरा राशन कार्ड योजना की जानकारी मिली। आवेदन करने के बाद उनका भी हरा राशन कार्ड बन गया। इससे परिवार को काफी सहारा मिल रहा है। शारदा और अनिता जैसे हजारों लोगों को हरा राशन कार्ड उपलब्ध करा सरकार ने लंबी लकीर खींच दी है।

    यहां सभी जरूरतमंदों को मिला कार्ड

    हजारीबाग जिला राज्य का ऐसा जिला बन गया है, जहां के सभी 16 प्रखंड और नगर निगम क्षेत्र के गरीब और असहाय लोगों को हरा राशन कार्ड योजना से आच्छादित किया गया है। प्रखंड आपूर्ति एवं जिला आपूर्ति कार्यालय द्वारा 25, 266 योग्य परिवारों के राशन कार्ड जारी किया गया है। इससे 79, 180 लाभुकों को आच्छादित कर लाभान्वित किया गया है। 

    जरूरतमंदों को मिल रहा लाभ

    इस योजना के तहत विधवा, निःशक्त, प्रवासी श्रमिकों और महिलाओं को विशेष लाभ मिल रहा है। जिला आपूर्ति पदाधिकारी अरविंद कुमार ने बताया कि जिले में लक्ष्य के विरुद्ध शत-प्रतिशत लाभुकों को इस योजना से आच्छादित किया गया है। इससे गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को एक रुपए प्रति किलो की दर से सूखा अनाज मिल रहा है। 

    क्या है योजना

    झारखंड में 15 नवंबर 2020 से हरा राशन कार्ड योजना लागू हुई थी। इस योजना के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर और गरीब परिवारों को 1 रुपए की दर से हर महीने 5 किलो अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है। इस योजना से वैसे लोगों को लाभ मिलता है, जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के लाभ से वंचित और काफी गरीब हैं। इससे योजना के लाभुकों को काफी राहत मिलती है। हरा राशन कार्ड योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक के पास पहचान पत्र, आधार कार्ड, बैंक खाता, मोबाईल नंबर, बीपीएल कार्ड, निवास प्रमाण पत्र का होना जरूरी है। विभागीय जांच/सत्यापन के बाद योग्य लाभुकों को हरा राशन कार्ड जारी किया जाता है।