amit-shah
File Pic

कोलकाता: गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) के बंगाल (West Bengal) दौरे का आज दूसरा दिन था। इस दौरान उन्होंने बीरभूम (Birbhum) के बोलपुर (Bolpur) में बड़ा रोड शो किया, जिसमें हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। इसके बाद उन्होंने आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी (Mamata Banerjee) सहित टीएमसी (TMC) पर बड़ा हमला बोला। इस दौरान उन्होंने नागरिकता कानून को बंगाल में लागू करने पर कहा कि, “कोरोना वैक्सीन आने के बाद राज्य में लागू करेंगे.”

नड्डा के दौरे पर टीएमसी ने किया हमला 

अमित शाह ने कहा, “कुछ दिन पहले हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष के बंगाल दौरे के दौरान उनपर TMC के कार्यकर्ताओं ने जिस तरह से हमला किया था, उसकी भाजपा निंदा करती है और मैं व्यक्तिगत रूप से भी इसकी निंदा करता हूं।”

उन्होंने आगे कहा, “भाजपा अध्यक्ष पर ये हमला सिर्फ भाजपा अध्यक्ष पर हमला नहीं है, यह बंगाल के अंदर लोकतंत्र की व्यवस्था पर हमला है। इसकी ज़िम्मेदारी TMC सरकार और TMC कार्यकर्ताओं की है।”

हिंसा का जवाब लोकतांत्रिक से देंगे 

भाजपा नेता ने कहा, “भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने तय किया है कि हम हिंसा का जवाब लोकतांत्रिक तरीके से देंगे और आने वाले चुनाव में इस सरकार को हराकर दिखाएंगे।”

उन्होंने कहा, “बंगाल में राजनीतिक हिंसा चरम सीमा पर है, 300 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएं कर दी गई हैं और उसकी जांच में एक इंच भी प्रगति दिखाई नहीं देती।”

टीएमसी को बंगाल से हराएंगे 

मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी द्वारा भाजपा को बाहरी बताने पर गृहमंत्री ने पलटवार करते हुए कहा, “ममता दीदी, आपको हराने के लिए दिल्ली से किसी को नहीं आना है … क्या ममता दीदी ऐसा देश चाहती हैं, जहां एक राज्य के लोग दूसरे राज्य में न जा सकें? बंगाल के लोग ऐसी रूढ़िवादी सोच को स्वीकार नहीं करेंगे।” 

जनता से ज्यादा भतीजे की चिंता 

शाह ने परिवारवाद को लेकर बैनर्जी पर हमला बोलते हुए कहा, “ममता बैनर्जी को पश्चिम बंगाल की 10 करोड़ जनता की चिंता नहीं है उन्हें सिर्फ अपने भतीजे की चिंता है वह किसी भी तरह अपने उन्हें मुख्यमंत्री बनाना चाहती है इस सोच क साथ सरकार चलाई जाएगी तो राज्य का विकास क्या करेगी।”

उन्होंने कहा, “भ्रष्टाचार के मामले पर बंगाल पहले नंबर पर है वह भ्रष्टाचार पर इसलिए कारवाई नहीं करती क्योंकि उनके लोग इसमें शामिल है ममता के राज में परिवारवाद, राजनीतिक अपराधिकरण बढ़ गया है।”

नागरिकता कानून के नियम बन रहे 

बंगाल में नागरिकता कानून को लागू करने के सवाल पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “कोरोना वायरस के वजह से स्थिति अभी बेहतर नहीं है और अभी कानून के नियम नहीं बने हैं जैसे ही देश में कोरोना की वैक्सीन आएगी उसके बाद हम इसे बंगाल में लागू करने पर विचार करेंगे।”

किसान सम्मान निधि का फायदा किसानों को नहीं दिया 

किसान सम्मान निधि को लेकर मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा, “मोदी जी ने देश के 10 करोड़ किसानों को 95 हजार करोड़ रूपये की सहायता विगत ड़ेढ साल के अंदर दी है। यह सहायता बंगाल के एक भी किसान को नहीं मिली क्योंकि ममता दीदी ने सूची नहीं भेजती हैं” उन्होंने ममता पर तंज कसते हुए कहा कि, “अगर ऐसे नहीं भेज सकती है तो अपने भतीजे के जन्मदिन के मौके पर ही पत्र लिख दें