भाजपा की केरल इकाई ने केंद्रीय गृह मंत्री से बिशप को सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया

    तिरुवनंतपुरम: भारतीय जनता पार्टी की केरल इकाई ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर ‘लव नारकोटिक जिहाद’ वाला बयान देने वाले पाला बिशप जोसेफ कल्लारंगत और ईसाई समुदाय को सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया है। भाजपा के प्रदेश महासचिव जॉर्ज कुरियन द्वारा 11 सितंबर को लिखे गए पत्र में दावा किया गया है कि बिशप की टिप्पणी ईसाइयों और हिंदुओं के बीच असुरक्षा के भाव को दर्शाने वाली है। 

    पत्र में यह भी कहा गया कि केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष वी डी सतीशन ने बिशप की कड़ी आलोचना की, जिसके चलते कुछ कथित “चरमपंथियों” ने बिशप के घर जाकर उन्हें पीटने की धमकी दी। कुरियन ने पत्र में कहा, “इन परिस्थितियों में, मैं आपसे (शाह) अनुरोध करता हूं कि कृपया इस मामले में हस्तक्षेप करें और बिशप तथा ईसाई समुदाय को सुरक्षा प्रदान करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करें।” 

    कल्लारंगत ने हाल में बयान दिया था कि ईसाई लड़कियां केरल में कथित ‘लव और नारकोटिक जिहाद’ का शिकार हो रही हैं और जहां भी हथियारों का इस्तेमाल नहीं हो सकता, वहां युवाओं को बर्बाद करने के लिए ऐसे तरीके अपनाए जा रहे हैं। इस बयान पर सियासत गरमाने के बाद मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों को ऐसे बयान नहीं देने चाहिए, जिससे समाज में विभाजन पैदा हो।