Before the elections in UP, the Uttar Pradesh Congress asked every potential candidate for Rs.11 thousand as cooperation amount
File Photo

    नयी दिल्ली/तिरूवनंतपुरम. केरल (Kerala) में कांग्रेस (Congress) छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) में 140 विधानसभा सीटों (Assembly Seats) में से 91 पर अपने उम्मीदवार (Candidates) उतारेगी और अंतिम सूची रविवार को जारी होने की संभावना है। केरल पीसीसी के अध्यक्ष मुलापल्ली रामचंद्रन, राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला और पूर्व मुख्यमंत्री ओम्मन चांडी ने दिल्ली में संवाददाताओं से कहा कि पार्टी 91 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी और 81 सीटों पर आम सहमति से उम्मीदवारों का निर्णय कर लिया गया है।

    रामचंद्रन ने कहा कि शेष दस सीटों पर उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप देने को लेकर चर्चा चल रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति ने केरल में 91 सीटों पर उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है।

    रामचंद्रन ने कहा, “अभी तक 81 सीटों पर नामों को अंतिम रूप दे दिया गया है। शेष दस सीटों पर नामों का निर्णय करने के बाद अंतिम सूची रविवार को घोषित की जाएगी।” यह पूछने पर कि क्या पार्टी ने नेमोम विधानसभा सीट से उम्मीदवार का नाम तय कर लिया है, तो चेन्नीथला ने कहा कि उस पर कमजोर उम्मीदवार नहीं होगा। 2016 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने एकमात्र इसी सीट पर जीत दर्ज की थी। कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस आलाकमान इस बात को लेकर इच्छुक है कि प्रतिष्ठित नेमोम सीट पर भगवा दल को हराने के लिए चांडी या चेन्नीथला को वहां से अपना भाग्य आजमाना चाहिए।

    रामचंद्रन ने कहा कि इस बार मैदान में कोई भी सांसद नहीं होगा और किसी भी उम्मीदवार को दो सीट से नहीं उतारा जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘केरल में पार्टी एकजुट है, यूडीएफ एकजुट है और आगामी चुनावों में मोर्चा जीत हासिल करेगा।”

    आईयूएमएल को 27 सीटें आवंटित की गई हैं। उसने शुक्रवार को 25 उम्मीदवारों की सूची जारी की जिसमें एक महिला उम्मीदवार भी शामिल है। रामचंद्रन ने कहा कि केरल कांग्रेस (जोसफ) को दस सीटें जबकि आरएसपी को पांच सीटें दी गई हैं।

    उन्होंने कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी केरल हाल में राकांपा से संबंध तोड़कर यूडीएफ में शामिल हुई थी और उसे भी दो सीटें दी गई हैं। सत्तारूढ़ वाम मोर्चा के माकपा और भाकपा ने पहले ही अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है जबकि भाजपा रविवार को अपनी सूची को अंतिम रूप दे सकती है। (एजेंसी)