भीख में मिली आजादी वाले बयान पर कंगना रनौत की बढ़ी मुश्किलें, राजस्थान में हुई FIR दर्ज

    जयपुर: अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की मुश्किलें बढ़ गई है। उनके खिलाफ महिला कांग्रेस ने भारत की स्वतंत्रता को कथित रूप से ‘भीख’ बताने के लिए पुलिस शिकायत दर्ज कराई। बता दें कि अभिनेत्री ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया कि भारत को ”1947 में आजादी नहीं, बल्कि भीख मिली थी” और ”जो आजादी मिली है वह 2014 में मिली जब नरेंद्र मोदी सरकार सत्ता में आई।” वही अभिनेत्री ने जिस टीवी चैनल पर यह टिप्पणी की थी, उसका नाम भी शिकायत में दर्ज है। 

    जोधपुर महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष मनीषा पवार ने शिकायत दर्ज कराई  है। उन्होंने शिकायत में कहा, ”पूरी दुनिया भारत के स्वतंत्रता संग्राम और उसके सेनानियों को उच्च सम्मान से देखती है। यह भी एक सच्चाई है कि हजारों लोगों ने इस स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान दिया और उनके बलिदान को ‘भीख’ बताकर उन्होंने शहीदों, उनके वंशजों और प्रत्येक भारतीय नागरिक का अपमान किया है।”

    अध्यक्ष मनीषा पवार ने अभिनेत्री कंगना रनौत और चैनल दोनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि, अभिनेत्री के  बयान से मालूम होता है की उन्हें देश की आजादी और संविधान के प्रामाणिक सबूतों का प्रति कोई सम्मान नहीं है। वहीं पवार ने आगे कहा कि कंगना का बयान एक सार्वजनिक मंच से “जानबूझकर उठाया गया कदम” था। जिससे सभी भारतीयों की भावनाओं को ठेस पहुंची है, उन्होंने कहा कि उनका बयान “देशद्रोह की श्रेणी” के अंतर्गत आता है।

    शास्त्री नगर पुलिस थाने के एसएचओ पंकज राज माथुर ने कहा, महिला कांग्रेस प्रतिनिधि और विधायक की ओर से दिए गए ज्ञापन में अभिनेत्री कंगना रनौत के बयान पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा, शिकायत दर्ज कर ली गई है और जांच के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी।