Basavaraj Bommai
Pic Credit: Twitter

    बेंगलुरु/हुबली. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि वह ‘‘भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के असली कार्यकर्ता” और मुख्यमंत्री हैं तथा सभी को विश्वास में लेकर काम करेंगे। हाल में जनता दल (सेक्युलर) द्वारा वर्तमान भाजपा सरकार को ‘जनता परिवार सरकार’ बताने से जुड़े एक सवाल के जवाब में बोम्मई ने कहा, ‘‘वह (एच डी कुमारस्वामी) जानते हैं कि मैंने किस परिस्थिति में जनता दल छोड़ा था। मैं पिछले 15 वर्षों से भाजपा में हूं, इसलिए मुझे जनता दल से जोड़ने का कोई सवाल ही नहीं उठता।”

    हुबली में पत्रकारों से बोम्मई ने कहा, ‘‘मैं भाजपा का असली कार्यकर्ता और भाजपा का मुख्यमंत्री हूं…ऐसे शरारतपूर्ण बयानों का कोई महत्व नहीं है।”

    कद्दावर नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस. आर. बोम्मई के बेटे बसवराज बोम्मई ने जनता दल के साथ अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। हासन के भाजपा विधायक प्रीतम गौड़ा को ‘युवा दोस्त’ बताते हुए बोम्मई ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री और जद(एस) सुप्रीमो एच डी देवेगौड़ा के साथ उनकी हालिया मुलाकात के दौरान राजनीति पर कोई चर्चा नहीं हुई।

    बोम्मई ने कहा, ‘‘हासन के पदाधिकारी (भाजपा) आए थे और मुझसे मुलाकात की। मैं उनसे एक बार फिर बात करूंगा, किसी संदेह या आशंका की कोई जरूरत नहीं है। मैं अपनी पार्टी, कार्यकर्ताओं और विधायकों को विश्वास में लेकर काम करूंगा।”

    बोम्मई, प्रीतम गौड़ा के उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे कि उनके निर्वाचन क्षेत्र के पार्टी कार्यकर्ता देवेगौड़ा के आवास पर बोम्मई के जाने से नाराज हैं। उधर, राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री सी. एन. अश्वथ नारायण ने दावा किया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी)-2020 के क्रियान्वयन के संबंध में आदेश जारी करने के लिए कर्नाटक देश में पहला राज्य बन गया है।

    वर्तमान शैक्षणिक वर्ष 2021-2022 से नीति के क्रियान्वयन पर राज्य सरकार ने शनिवार को आदेश जारी किया है। नारायण के कार्यालय से जारी बयान में उनके हवाले से कहा गया, ‘‘इसके साथ ही कर्नाटक एनईपी-2020 के क्रियान्वयन के संबंध में आदेश जारी करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।” उन्होंने कहा कि यह एनईपी के दिशानिर्देशों के अनुसार किया जाएगा। (एजेंसी)