Hemant Soren

    ओमप्रकाश मिश्र

    रांची : राज्य सरकार (State Government) के हस्तक्षेप के बाद ईस्ट मुंबई (East Mumbai) (महाराष्ट्र) के एल एंड टी कंपनी (L&T Company) में कार्यरत झारखंड  स्थित गुमला जिले  के 12 कुशल कामगारों को उनके बकाया वेतन का भुगतान करया गया। कंपनी ने कुशल कामगारों को 1,83,066 रूपये का भुगतान किया है। वेतन मिलने के बाद मुख्यमंत्री  हेमंत  सोरेन, श्रम मंत्री  सत्यानंद भोक्ता और श्रम विभाग के अंतर्गत राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष के प्रति सभी कामगारों  ने आभार प्रकट किया है।

    मिली जानकारी के अनुसार गुमला जिला के पालकोट प्रखंड स्थित बागेसेरा गांव के कुल 12 कुशल कामगार ईस्ट मुंबई में स्थापित  एल एंड टी कंपनी में कारपेंटर/अल्मुनियम/सेंट्रिंग का काम करने गए थे। ये पिछले साल (फरवरी 2020) से कंपनी में काम कर रहे हैं। इन सभी ने खूंटी के कल्याण गुरूकुल में प्रशिक्षण लिया था। इन 12 कुशल कामगारों को लॉकडाउन के बाद से एल एंड टी कंपनी ने मजदूरी का  भुगतान नहीं किया था। जिसके कारण इनके सामने खाने-पीने और  रहने की भारी समस्या उत्पन्न हो गयी थी।

    संपर्क स्थापित कर अपनी समस्या की जानकारी दी

    पिछले 8 अक्टूबर  2021 को इन कुशल कामगारों ने राज्य प्रवासी श्रमिक नियंत्रण कक्ष से संपर्क स्थापित कर अपनी समस्या की जानकारी दी। इसके बाद मुख्यमंत्री के निर्देश पर नियंत्रण कक्ष के प्रतिनिधि ने एल एंड टी  के मैनेजर से इस संबंध में बातचीत की और सभी का बकाया कुल 1,83,066 रुपये का भुगतान कराया। सभी कुशल कामगार अभी मुंबई में हैं और एल एंड टी  कंपनी में ही काम कर रहें हैं।