झारखंड लोक सेवा आयोग एवं झारखंड कर्मचारी चयन आयोग आपस में बेहतर समन्वय स्थापित कर नियुक्ति कार्यों में तेजी लाएं: हेमंत सोरेन

    -ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची: मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन (CM Hemant Soren) ने झारखंड मंत्रालय स्थित सभा कक्ष में कार्मिक, प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग द्वारा आयोजित बैठक में नियुक्ति कार्य में तेजी लाने के संबंध में अधिकारियों को कई दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्मिक, प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग, अन्य सभी विभाग, झारखंड लोक सेवा आयोग (Jharkhand Public Service Commission) एवं झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (Jharkhand Staff Selection Commission) आपस में बेहतर समन्वय स्थापित कर नियुक्ति (Appointment) कार्यों में तेजी लाएं। किसी भी विभाग की ओर से भर्तियों को लंबित न रहने दिया जाए। 

    राज्य सरकार की मंशा है कि ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार मिले और नियुक्ति प्रक्रिया किसी भी स्तर पर लंबित नही रहे। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि सभी विभागों में लंबित नियुक्ति प्रक्रियाओं को एक निश्चित समय सीमा के अंतर्गत हर हाल में पूरा कर लिया जाए। इसके लिए एक बेहतर योजना बनाकर कार्य करें, जिससे तय समय में नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा किया जा सके।

    31 अक्टूबर 2021 तक नियुक्ति एवं सेवाशर्त नियमावली में विसंगतियों को दूर करें

    हेमन्त सोरेन ने कहा कि 31 अक्टूबर 2021 से पहले ही सभी विभाग नियुक्ति/सेवाशर्त से संबंधित नियमावलियों में जितनी भी विसंगतियां हैं, उन्हें दूर कर विज्ञापन प्रकाशित करें। उन्होंने कहा कि वर्ग तीन एवं चार से संबंधित नियुक्तियों के संबंध में कार्मिक, प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग के आलोक में नियमावली में जो संशोधन किए गए हैं उसका अनुपालन सभी विभाग जल्द सुनिश्चित करें, जिससे राज्य के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा अवसर मिल सके  और विभिन्न विभागों में रिक्त पड़े पदों को तत्काल भरा जा सकें।