Pic Credit: Twitter
Pic Credit: Twitter

    कर्नाटक. कर्नाटक (Karnataka) के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई (Karnataka Home Minister Basavaraj Bommai) ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन्होंने विशेष जांच दल (एसआईटी) (SIT) को आदेश दिया है कि वह नौकरी के बदले सेक्स मामले में भाजपा विधायक तथा पूर्व मंत्री रमेश जारकिहोली (Ramesh Jarkiholi) को बदनाम करने की कथित कोशिशों से संबंधित जांच जल्द से जल्द पूरी करे। मंत्री ने यहां पत्रकारों से कहा कि सरकार ने एसआईटी को इस मामले की हर पहलू से जांच करने की पूरी आजादी दी है।  

    उन्होंने कहा कि मामले की जांच पूरी करने के लिये कोई समयसीमा नहीं दी गई है। बोम्मई ने कहा, ”हम जांच के लिये कोई समयसीमा नहीं दे सकते। हालांकि राज्य की जनता को यह बताने के लिये कि क्या हुआ है, मैंने पुलिस को जल्द से जल्द जांच पूरी करने के लिये कहा है।” उन्होंने कहा कि एसआईटी इस मामले की जांच के लिये उपयुक्त है। वह प्रारंभिक जांच के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर सकती है।  

    मंत्री ने नौकरी के बदले सेक्स के सामाजिक कार्यकर्ता के आरोपों के संबंधित मामले की जांच के लिये बुधवार को एसआईटी गठित करने की घोषणा की थी। इस मामले के सामने आने के बाद तीन मार्च को जारकिहोली को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। जारकिहोली ने कहा था कि आपत्तिजनक वीडियो क्लिप में उन्हें एक महिला के साथ अंतरंग अवस्था में दिखाकर बदनाम करने की साजिश रची गई है। जारकिहोली के खिलाफ शिकायत देने के एक सप्ताह के अंदर सामाजिक कार्यकर्ता ने शिकायत वापस ले ली थी। (एजेंसी)