Meeting held in the city building regarding the tasks and responsibilities of the preliminary competitive examination

    ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची. आगामी 19 सितंबर (September) को होने वाले जेपीएससी झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा (Jharkhand Combined Civil Service) (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा-2021 को हजारीबाग (Hazaribagh) जिलांतर्गत शांतिपूर्ण (Peaceful) एवं कदाचारमुक्त तरीके से संपन्न कराने के संबंध में अपर समाहर्ता रंजीत कुमार लाल ने नगर भवन में गुरुवार को सभी परीक्षा केंद्रों के केंद्राधीक्षक / सांख्यिकी दंडाधिकारी / वरीय दंडाधिकारी के साथ बैठक की।  बैठक में परीक्षा के दिन एवं परीक्षा से पूर्व किए जाने वाले कार्यों-दायित्वों के संबंध में विस्तार से बताया गया।

    बैठक में नोडल पदाधिकारी ने सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को संबोधित करते हुए कहा कि हजारीबाग जिला में यह परीक्षा आयोजित होना हमारे लिए एक अवसर है, एक खास मौका है। परीक्षा को कदाचारमुक्त संपन्न कराने में हम सभी की भूमिका काफी अहम होगी। इसलिए सभी अपने-अपने कर्तव्यों का निर्वहन अच्छी तरह करेंगे। किसी परीक्षा केंद्र में किसी वीक्षक के सगे-संबंधी अगर हैं तो उन्हें पूर्व में ही किसी दूसरे वीक्षक से स्थानांतरित कर देना है।

    परीक्षा में मोबाइल और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजट पर प्रतिबंध

    उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र में किसी भी अभ्यर्थी द्वारा परीक्षा केंद्र के भीतर मोबाइल या अन्य इलेक्ट्रोनिक गैजेट इस्तेमाल किये जाने पर प्रतिबंध रहेगा। अगर कोई परीक्षा केंद्र में मोबाइल लेकर आते हैं उनके संधारण की व्यवस्था अलग से करें।

    कोविड के लक्षण वाले अभ्यर्थियों को अलग बैठाएं

    उन्होंने ने कहा कि अगर कोई परीक्षा केंद्र में किसी अभ्यर्थी में कोविड के लक्षण दिखाई देते हैं तो उनके परीक्षा में बैठने के लिए अलग कमरे की व्यवस्था की जाए, उन्हें परीक्षा से वंचित नहीं करना है। परीक्षा केंद्र के प्रवेश द्वार पर अभ्यर्थियों, वीक्षकों और परीक्षा संचालन से संबंधित सभी लोगों की जांच थर्मल स्कैनर से सुनिश्चित करें। परीक्षा केंद्र की साफ-सफाई, सैनिटाइज कराना परीक्षा के पूर्व सुनिश्चित करने, दोनों पालियों में ससमय प्रश्न पत्र और ओएमआरशीट की सीलिंग, परीक्षा केंद्र में उचित प्रकाश, पेयजल की व्यवस्था, शौचालय की व्यवस्था का निदेश सभी प्रधानाध्यापकों को दिया गया। साथ ही सभी परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी का संधारण सुनिश्चित करने के लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी को और प्रत्येक केंद्र में वीडियोग्राफी की व्यवस्था के लिए नजारत उप समाहर्त्ता को निर्देश दिया गया।

    बैठक में अपर समाहर्त्ता ने केंद्राधीक्षकों को परीक्षा निर्देशिका के संबंध में सामान्य निर्देश, केंद्र पर उपलब्ध कराई जाने वाली सामग्री की चेक लिस्ट, वस्तुनिष्ठ परीक्षा हेतु विशेष निर्देश, अभ्यर्थियों के बैठने की व्यवस्था, केंद्राधीक्षक अनुदेश, कोविड 19 के संबंध में अनुदेश एवं केंद्राधीक्षक के परीक्षा पूर्व के कार्य, केंद्राधीक्षक के परीक्षा के दौरान कार्य, प्रश्न पत्र प्लानर, उत्तर पत्रक प्लानर, वीक्षक हेतु अनुदेश, वीक्षक रिपोर्ट, नो रिलेशन सर्टिफिकेट, रूम चार्ट, प्रश्न पत्र के पैकेट खोले जाने संबंधी अनुदेश एवं वीडियोग्राफी के संबंध में सामान्य अनुदेश, प्रश्न पत्र एवं उत्तर पत्रक प्राप्ति प्रपत्र, उपस्थिति पत्रक/ अप्रयुक्त प्रश्न – पत्र एवं प्रयुक्त/ अप्रयुक्त उत्तर पत्रक वापसी प्रपत्र, परीक्षार्थियों हेतु सामान्य निर्देश, श्रुतलेखक प्रपत्र, टाईम प्लानर आदि निर्देशों/प्रपत्रों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई।

    इस परीक्षा को संपन्न कराने के लिए कुल 34500 परीक्षार्थियों के लिए 88 परीक्षा केंद्र स्थापित किये गए है। परीक्षा के दिन सभी परीक्षा केंद्रों के 100 मीटर की परिधि में धारा 144 लागू किये जाने के फरमान जारी किये गए है। सदर और बरही अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा जारी किए विस्तृत आदेश इस प्रकार है। 

    केंद्र द्वारा अधिकृत व्यक्ति पर लागू नहीं होगा

    निर्धारित क्षेत्र के भीतर पांच या अधिक व्यक्तियों की सभा प्रतिबंधित रहेगी। परीक्षा केंद्र के आसपास लाठी, आग्नेयास्त्रों सहित धारदार घातक हथियार ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। परीक्षा केंद्रों में अनुचित साधनों का उपयोग करने वाली सामग्री ले जाने पर मनाही होगी।निषिद्ध क्षेत्रों में और उसके आसपास लाउड स्पीकर बजाना पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। हालांकि यह आदेश ड्यूटी पर कार्यरत सरकारी कर्मियों और परीक्षा केंद्र द्वारा अधिकृत व्यक्ति पर लागू नहीं होगा।