एनआईए ने आतंकवादी संगठन जूंद अल अक्सा को लेकर केरल में मारे छापे

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency) (एनआईए) ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जूंद अल अक्सा (Jund Al Aqsa) के कथित सदस्यों के खिलाफ अपनी जांच के सिलसिले में केरल (Kerala) में सात स्थानों पर मंगलवार को छापेमारी की। इस आतंकी संगठन के युद्धप्रभावित सीरिया में सक्रिय (Active in Syria) होने का संदेह है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। 

एनआईए के एक प्रवक्ता ने बताया कि केरल के त्रिशूर और कोझिकोड जिलों में मोहम्मद फाज (Mohammad Faaz), मोहम्मद इहतिशाम (Mohammad Ihtisham), अब्दुल समीह (Abdul Samih), रईस रेहिमान (Raees Rehman), नबील मोहम्मद (Nabil Mohammad), मोहम्मद शाहीन (Mohammad Shahin) और मोहम्मद अमीर (Mohammad Amir) के मकानों की तलाशी की गयी। 

अधिकारी ने बताया कि एनआईए ने जनवरी, 2019 में स्वत: ही संज्ञान लेते हुए छह आरोपियों–एर्नाकुलम के हाशिर मोहम्मद (Hashir Mohammad), मलप्पुरम के सिधिकुल अकबर (Sidhikul Akbar), कन्नून के मुहम्मद इरफान (Muhammad Irfan), कोझिकोड के सुल्तान अब्दुल्ला (Sultan Abdullah), त्रिशूर के फायेज फारूक (Fayez Farooq) और कर्नाटक के शिमोगा के ताहा मोहम्मद (Taha Mohammad) के खिलाफ भादंसं और यूएपीए कानूनों की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। 

एनआईए अधिकारी के अनुसार इन लोगों ने 2013 से कतर में रहने के बाद साचिश रची, सीरिया की यात्रा की या उसकी तैयारी की तथा वे जूंद अल अक्सा या जभात अल नुसरा से जुड़े। अधिकारी ने बताया कि मोहम्मद फाज, मोहम्मद इहतिशाम, अब्दुल समीह, रईस रेहिमान, नबील मोहम्मद, मोहम्मद शाहीन और मोहम्मद अमीर 2019 के प्रारंभ तक कतर में रहने के दौरान आरोपी सिधिकुल अकबर के संपर्क में थे और उन्होंने सीरिया में भगोड़ों को धन प्रदान किया था। 

अधिकारी के अनुसार तलाशी के दौरान नौ मोबाइल फोन, 15 सिमकार्ड, एक आईपैड, छह लैपटॉप, तीन मेमोरी कार्ड और विभिन्न दस्तावेज बरामद किये गये। मामले की जांच जारी है। (एजेंसी)