Protest and demonstration of assistant policemen again in Ranchi demanding confirmation and pay scale

    ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची. लम्बे समय से संविदा पर नियुक्त सहायक पुलिसकर्मी (Assistant Policemen) अपनी स्थायीकरण और वेतनमान (Confirmation and Pay Scale) की मांग को लेकर एक बार फिर रांची स्थित मोरहाबादी मैदान पहुंचने लगे हैं। पिछले साल इनके उग्र प्रदर्शन को देखते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक ने इन्हें रांची में एंट्री ही नहीं देने की तैयारी की थी। सभी सीमाई थानों को निर्देश दिया गया था कि इन्हें रांची आने से रोकें, लेकिन अपने निर्धारित तिथि 27 सितंबर को उक्त सभी पुलिसकर्मी सभी हदों को पार कर मोरहाबादी मैदान पहुंच गए हैं।

    इन्होंने अपनी मांगे पूरी नहीं होने के विरोध में आंदोलन की घोषणा की है। साथ ही मुख्यमंत्री आवास का भी घेराव करने की धमकी दी है । सहायक पुलिसकर्मियों के विरोध प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक के आदेश के बाद पूरे मोरहाबादी इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया है। यहां तकरीबन 1000 से ज्यादा अतिरिक्त पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। यहां रांची सशत्रबल पुलिस  और झारखंड सशत्रबल पुलिस के महिला बटालियन को भी तैनात किया गया है।

    पुलिसकर्मियों को रोकने में रांची पुलिस नाकाम

    राज्य के 12 जिलों में संविदा पर बहाल हुए 2500 सहायक पुलिसकर्मियों को काफी प्रयास के बाद भी रांची पुलिस मोरहाबादी मैदान पर पहुंचने से नहीं रोक पाई। विभिन्न जिलों से राजधानी में पहुंचने वाले पथ पर बैरिकेडिंग की गई थी। रात से ही काफी संख्या में पुलिस बल के जवानों की तैनाती की गई थी, लेकिन इसके बाद भी सहायक पुलिसकर्मियों को रोकने में रांची पुलिस पूरी तरह से नाकाम  साबित हुई।

    संविदा रद्द कर दिया गया

    पलामू, गढ़वा, चतरा, लातेहार, खूंटी सिमडेगा, गिरिडीह, पश्चिमी सिंहभूम, गुमला, लोहरदगा सहित 12 जिलों के 2269 सहायक पुलिसकर्मियों का दलील है कि 2017 में जिलावार लिखित परीक्षा और फिजिकल -मेडिकल पास करने के बाद उनकी बहाली हुई थी। उस समय यह कहा गया था कि तीन साल की सेवा के बाद जिला पुलिस में बहाली होगी। सरकार बदलते ही इनका संविदा रद्द कर दिया गया। एक साल बाद इन्हें पुनः प्रतिनियुक्त करने की बात सरकार की ओर से की गई थी पर अब इनका आरोप है कि सरकार इनके साथ वादाखिलाफी कर रही  है।

    पुलिस ने बैरिकेडिंग कर दी

    धरना प्रदर्शन की स्थिति को देखते हुए मोरहाबादी में चारों तरफ पुलिस ने बैरिकेडिंग कर दी है। बैरिकेडिंग किए गए सभी स्थानों पर पुलिस बल के जवानों को तैनात किया गया है। वाहन सवार आने-जाने वाले लोगों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इस बात का भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

    रांची पुलिस के लिए एक बार फिर चुनौती

    इस बीच विभिन संगठनों द्वारा आहूत आज के भारत बंद और कुर्मी विकास मोर्चा का पद यात्रा समेत विभिन्न प्रकार के जुलूस निकाले जाने की सूचना के बाद रांची पुलिस ने पहले से ही सुरक्षा की पूरी तैयारी कर ली थी। बंद समर्थकों और पदयात्रा में शामिल होने वाले लोगों से आम लोगों को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो इसका विशेष ध्यान रखा गया था। पदयात्रा में शामिल होकर रांची पहुंचने वाले लोगों को करम टोली चौक पर ही रोक दिया गया था। फिलहाल 2500 सहायक पुलिसकर्मियों का धरना प्रदर्शन और सरकार के प्रति विरोध का मामला रांची पुलिस के लिए एक बार फिर चुनौती बन गया है।