दो विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने की मांग को लेकर शुभेंदु अधिकारी ने विधानसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी को पत्र लिखकर उन दो विधायकों को अयोग्य ठहराने की मांग की, जो हाल में भाजपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव जीतकर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। दो अलग-अलग याचिकाओं में भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने विधायकों बिस्वजीत दास और तन्मय घोष को जल्द से जल्द अयोग्य ठहराए जाने की मांग की। उन्होंने याचिकाओं के साथ इन विधायकों के दल बदलने से संबंधित दस्तावेज भी संलग्न किए।

    शुभेंदु अधिकारी ने कहा, “वे दोनों किसी भी पार्टी में शामिल होने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन उन्हें भाजपा विधायक के तौर पर इस्तीफा देना होगा। देखते हैं कि विधानसभा अध्यक्ष क्या कदम उठाते हैं? इसके बाद हम अपनी अगली कार्रवाई के बारे में फैसला करेंगे।”

    हालांकि, तृणमूल कांग्रेस नेतृत्व ने पलटवार करते हुए विपक्ष के नेता से अपने पिता एवं लोकसभा सदस्य शिशिर अधिकारी से रास्ता दिखाने का आग्रह करने को कहा। तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर 2019 में लोकसभा चुनाव जीतने वाले शिशिर अधिकारी इस साल हुए विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे।

    राज्य की सत्ताधारी पार्टी के विधायक तापस रॉय ने कहा, “शुभेंदु अधिकारी को पहले अपने पिता शिशिर अधिकारी से तृणमूल कांग्रेस सांसद के तौर पर पद से इस्तीफा देने के लिए कहना चाहिए क्योंकि वह विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे। उसके बाद ही उन्हें दूसरों को भाषण देना चाहिए।” (एजेंसी)