केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे ने कर्नाटक सरकार से बाजरा निर्यात बढाने के लिये कहा

    बेंगलुरु : केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे ने मंगलवार को कर्नाटक सरकार से स्थायी कृषि को बढ़ावा देने के लिये रागी का निर्यात बढ़ाने का आग्रह किया । संयुक्त राष्ट्र द्वारा 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा (मिलेट्स) वर्ष घोषित किये जाने के बाद मंत्री ने यह अपील कर्नाटक सरकार से की है। ‘वाणिज्य उत्सव’ कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुये केंद्रीय कृषि एवं कृषक कल्याण राज्य मंत्री ने कहा कि कर्नाटक ‘‘श्रीधान्या (बाजरा, कांगनी परिवार के अनाज)” का घर है और सरकार की मंशा प्रधान एवं पौष्टिक खाद्य उत्पादों को फिर से पेश करने तथा बढ़ावा देने और इसके निर्यात में वृद्धि की है ।

    यह कार्यक्रम ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ का हिस्सा था, जिसका आयोजन केंद्रीय वाणिज्य विभाग ने कर्नाटक सरकार के सहयोग से किया था। करंदलाजे ने कहा, ‘‘भारत-इज़राइल-नीदरलैंड कार्यक्रम के तहत आम, अनार, फूल, पॉम आयल आदि की गुणवत्ता बेहतर करने और इसके उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए राज्य ने छह उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किए हैं। यह पहल भारत को उच्च गुणवत्ता वाले कृषि उत्पादों के अग्रणी उत्पादक और नवप्रवर्तक के रूप में वैश्विक मोर्चे पर स्थापित करेगा ।” 

    कर्नाटक के उडूपी चिकमंगलूर की सांसद करंदलाजे ने कहा कि राज्य सरकार नीतिगत पहलों को बेहतर ढंग से लक्षित करने तथा निर्यात बाजार पहुंच का विस्तार करने के लिए एक कृषि-निर्यात प्रकोष्ठ बनाने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ योजना और ‘प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों’ के कार्यान्वयन में भी सक्रिय रूप से लगा हुआ है। (एजेंसी)