Whatever health infrastructure was set up by the government, they should be put to better use in future apart from the corona pandemic: Chief Minister Hemant Soren
File Photo

    – ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची : राज्य (State) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने आज वर्चुवल माध्यम से रांची, जमशेदपुर, रामगढ़,  देवघर और सरायकेला समेत सात नए जगहों पर पीएसए ऑक्सीजन प्लांट (PSA Oxygen Plants) का उद्घाटन कियाI इस अवसर पर उन्होंने कहा कि  कोविड-19 महामारी के बीच राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ करने का प्रयास जारी है।

    इस कड़ी में स्वास्थ्य सुविधाओं का लगातार विस्तार हो रहा है। प्रखंड से लेकर जिला स्तर तक स्वास्थ्य से संबंधित आधारभूत संरचना को मजबूत किया जा रहा है, ताकि लोगों को उनके घर के निकटवर्ती अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्रों में बेहतर चिकित्सीय लाभ मिल सके।  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज पाथ ऑर्गेनाइजेशन के सहयोग से राज्य के विभिन्न अस्पतालों में सात नए पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का ऑनलाइन उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा जो भी स्वास्थ्य संरचनाएं खड़ी की गई हैं,  इसका कोरोना महामारी के अलावा भविष्य में भी बेहतर इस्तेमाल हो,  इसे सुनिश्चित करना जरूरी है।

    स्वास्थ्य क्षेत्र में हर दिन नई कड़ी जोड़ रहे हैं 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि लगभग 2 वर्ष पहले जब कोविड-19  महामारी ने पूरी दुनिया में दस्तक दी थी तो झारखंड भी इससे अछूता नहीं था। हमारी सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी कि कोरोना की जांच की सुविधा तक राज्य में उपलब्ध नहीं थी।लेकिन, आज हर जिले में पीएसए प्लांट अधिष्ठापित किए जा चुके हैं। कोरोना की जांच के लिए आरटीपीसीआर और अत्याधुनिक कोबास मशीन भी यहां है। अस्पतालों में लगभग 25 हजार बेड उपलब्ध हैं। अब राज्य में ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड, आईसीयू और वेंटीलेटर की पर्याप्त उपलब्धता है। सरकार का प्रयास है कि चिकित्सीय संसाधनों की कमी से किसी मरीज को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

    तीसरी लहर को भी काबू में करने का प्रयास 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि  सीमित संसाधनों के बीच बेहतर प्रबंधन के साथ हमने कोरोना के खिलाफ जंग शुरू की और सभी ने देखा है कि पहली दो लहरों को नियंत्रित करने में काफी हद तक कामयाबी हासिल की। अभी तीसरी लहर चल रही है और इसे भी काबू में करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं ।

    लोगों को जागरूक करना जरूरी 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी कब  तक जारी रहेगा। इसका आकलन करना बेहद मुश्किल है। लेकिन, ऐसे हालात में इसके संक्रमण से बचने के लिए हम सभी को सावधान तथा सतर्क रहना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकार बेहतर चिकित्सीय व्यवस्था तो कर ही रही है। लेकिन, इसके साथ इस महामारी से बचाव के तौर – तरीके लोगों को बताने के साथ कोविड-19 दिशा निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराना सबसे ज्यादा अहमियत रखता है। इसमें हम सभी का सहयोग बेहद जरूरी है।

    यहां अधिष्ठापित किए गए हैं पीएसए प्लांट 

    पाथ संगठन के सहयोग से रांची के सदर अस्पताल में दो, जमशेदपुर के मर्सी हॉस्पिटल में एक,  रामगढ़  ट्रॉमा सेंटर में एक, देवघर सदर अस्पताल में एक और चाकुलिया (पूर्वी सिंहभूम) और कुचाई (सरायकेला- खरसावां) सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक -एक पीएसए ऑक्सीजन प्लांट अधिष्ठापित किए गए हैं । इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री  बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव  सुखदेव सिंह, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह के अलावा मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय से मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  राजीव अरुण एक्का और मुख्यमंत्री के सचिव  विनय कुमार चौबे के अलावा पाथ संगठन के कंट्री डायरेक्टर  नीरज जैन और स्टेट लीड,   झारखंड  अभिजीत सिन्हा ऑनलाइन मौजूद थे।