Gujarat Chief Minister Vijay Rupani says- Congress is responsible for unemployment, corruption in the country
File

    अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Vijay Rupani) ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। रुपाणी ने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा उन्हें सौंपा। बता दें कि, विधानसभा चुनाव के 15 महीने पहले रुपाणी का इस्तीफा दिया है। वहीं पत्रकारों से बात करते हुए रुपाणी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और भाजपा (BJP) का धन्यवाद दिया है।

    शाम को विधायक दल की बैठक 

    रुपाणी के त्यागपत्र देने के बाद अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इसकी चर्चा शुरू हो गई है। इसी बीच आज शाम को भाजपा ने विधायक दल की बैठक बुलाई है। इस बैठक के दौरान अगले मुख्यमंत्री का नाम तय किया जाएगारूपाणी के बाद सीएम की रेस में चार नेताओं के नाम चल रहा है। आइए जानते हैं कौन है ये चार नेता। 

    ये नेता हैं रेस में 

    सीआर पाटिल (C R Patil) 

    मुख्यमंत्री की रेस में सबसे पहला नाम गुजरात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल (C R Patil) का नाम चल रहा है। नवसारी से सांसद पाटिल की पहचान गुजरात में उन नेताओं में होती है, जो अपने काम के बदौलत जाने जाते हैं। इसी के साथ उन्हें जमीन से जुड़े नेताओं में से एक है। पाटिल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का बेहद करीबी नेताओं में से जाना जाता है। इसी के साथ सबसे खास बात की ये कि, पाटिल को काम करने वाला नेता माना जाता है। आज तक उन्होंने चुनाव जीतने के लिए कभी प्रचार नहीं किया। उसके बावजूद वह लगातार रिकॉर्ड मार्जिन से जीत कर लोकसभा में पहुंचते रहे हैं। 2019 के आम चुनाव में सबसे ज्यादा छह लाख वोट पाकर संसद में पहुंचे थे। 

    मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya)

    केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया को भी काम करने वाला नेता के तौर पर जाना जाता है। 2019 के दूसरी बार जब मोदी सरकार दोबारा सत्ता में आई तो उन्हें केमिकल और फर्टिलाइजर मंत्रालय का प्रभार दिया गया। कोरोना के दौरान जब देश में दवाइयों की कमी पड़ी तो मंडाविया ने बेहतरीन काम किया और जरुरी दवाइयों की कमी को दूर करना का काम किया। जिसके बाद बीते दिनों हुए मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में उनका प्रमोशन करते हुए उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय का प्रभार दिया गया। 

    मंडाविया को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेहद भरोसे वाला नेता माना जाता है। बीते कई दिनों से दिल्ली सहित गुजरात में यह चर्चा शुरू थी कि, मंडाविया को गुजरात भाजपा का अगला मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। 

    नितिन पटेल (Nitin Patel) 

    नितिन पटेल भारतीय जनता पार्टी के बेहद वरिष्ठ और कद्दावर नेताओं में गिना जाता है। वह गुजरात भाजपा में पाटीदार समुदाय में सबसे बड़े नेताओं में से एक है। वर्तमान में वह गुजरात सरकार में उपमुख्यमंत्री के पद पर हैं। पटेल 1990 से लगातार गुजरात विधानसभा के सदस्य है। 2016 में आनंदीबेन पटेल के इस्तीफे के बाद नितिन पटेल का मुख्यमंत्री पद की रेस में नाम चल रहा था, लेकिन बाद में विजय रुपाणी को सीएम बनाया गया। नितिन पटेल भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी के बेहद विश्वासू नेता भी है। 

    पुरुषोत्तम रुपाला 

    केंद्र में मत्स्यपालन, पशुपालन, डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बेहद खास माना जाता है। कदवा पटेल पाटीदार समुदाय से आने वाले रुपाला मुख्यमंत्री की रेस में प्रमुखता से चल रहा है। गुजरात की राजनीति में पटेल समुदाय का बेहद प्रभाव होता है। रुपाला की पहचान उन नेताओं के रूप में होती है, जिसे संगठन और सरकार को लेकर कैसे काम किया जाता है उन्हें पता है