yogi-akhilesh
File Pic

    लखनऊ. समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि लखीमपुर (Lakhimpur) मामले में नामजद आरोपियों को जेल नहीं भेजा जा रहा है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार में गृह राज्य मंत्री के खिलाफ उंगलियां उठ रही हैं। पीड़ित परिवारों से मिलने लखीमपुर जा रहे अखिलेश ने यहां अपने आवास के बाहर संवाददाताओं से कहा, ”भाजपा सरकार में राज्य मंत्री (अजय मिश्रा) की ओर उंगली उठ रही है, इसलिए लखीमपुर मामले के आरोपियों को जेल नहीं भेजा जा रहा है।”

    उन्होंने कहा, ‘‘जिन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज है उन्हें जेल भेजा जाना चाहिए। सरकार को तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए और मामले की जांच उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश की निगरानी में की जानी चाहिए। चूंकि वह (आरोपी आशीष मिश्रा) गृह राज्य मंत्री के बेटे हैं, इसलिए अभी तक कार्रवाई नहीं की गई है।”

    उन्होंने कहा, “क्या आपको लगता है कि जब तक वह (आरोपी के पिता) केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हैं, तब तक किसानों को न्याय मिल सकेगा?” भाजपा के इस आरोप के बारे में पूछे जाने पर कि विपक्ष इस मामले पर राजनीति कर रहा है, उन्होंने कहा, “भाजपा राजनीति कर रही है और यह एक होशियार पार्टी है। हम जानना चाहते हैं कि कानपुर के मनीष गुप्ता मामले में क्या किया गया? दोषी पुलिसकर्मी अभी भी फरार हैं।”

    गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।