Amit Shah Twitter
ANI Photo

    लखनऊ. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को विपक्षी दलों (Opposition Parties) पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव आने के बाद सक्रिय होने वाले नेताओं की सबसे ज्यादा संख्या उत्तर प्रदेश में है। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के दो दिवसीय दौरे पर आए शाह ने राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) के मद्देनजर यह बात कही।

    पूर्ववर्ती सरकारों से तुलना करते हुए उन्होंने कहा, “आज मैं गर्व के साथ कह सकता हूं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम ने दंगाग्रस्त उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था का राज स्थापित किया है।”

    गृह मंत्री ने रविवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पिपरसंड, सरोजनी नगर में ‘उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज’ की आधारशिला रखने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा, “अखबारों को पढ़ता रहता हूं, रोज बयान आते हैं और चुनाव आने के बाद सक्रिय होने वाले नेताओं की सबसे ज्यादा संख्या उत्तर प्रदेश में है।”

    राज्य में अगले वर्ष की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होना है।

    शाह ने विपक्षी दलों के नेताओं खासतौर से समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाना बनाते हुए कहा,” बाढ़ आने पर, कोरोना के संकट के वक्त, किसानों के भूख से मरने पर ये लोग दिखाई नहीं पड़ते। जब किसानों के कर्ज माफ करने थे तो आप मौज-मस्ती में व् यस् त थे लेकिन चुनाव नजदीक आएगा तब आप जरूर दिखेंगे।”

    उन्होंने कहा, “परिवारवाद को उखाड़ फेंकने का काम भारतीय जनता पार्टी ने किया है और उप्र की जनता से निवेदन है कि चहुंमुखी विकास को देखिए और उसका समर्थन करिए।”

    पूर्ववर्ती सपा सरकार की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, “पहले पश्चिम से लोग घर छोड़कर भाग रहे थे, महिलाएं असुरक्षित थी, दिनदहाड़े गोलियां चलती थीं लेकिन 2017 में भाजपा ने एक वादा किया था कि उप्र को कानून-व्यवस्था की दृष्टि से ठीक बनाएंगे और विकसित राज्य बनाएंगे और आज 2021 में गर्व के साथ कह सकता हूं कि योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम ने दंगाग्रस्त उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था का राज स्थापित किया है।”

    उन्होंने दावा किया, “विकास की 44 योजनाओं में देश में उप्र सबसे आगे हैं। योगी और उनकी टीम ने देश की 44 योजनाओं में सर्वप्रथम स् थान प्राप् त किया है। उप्र ने हर क्षेत्र में विकास किया है, चाहे औद्योगिक निवेश की बात हो, चाहे कानून व्यवस्था ठीक करने की बात हो, गरीब किसान के खाते में धन देने की, शौचालय बनाने की, सिलेंडर देने या बिजली पहुंचाने या भ्रष् टाचार को खत्म कर भ्रष्टाचारियों में भय पैदा करने की बात हो, हर क्षेत्र में योगी के नेतृत्व में उत् कृष् ट कार्य किया गया है।” (एजेंसी)