Uttar Pradesh : CM Yogi Adityanath performed special pooja in Gorakhnath temple, watch video

    लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath )के ड्रीम प्रोजेक्ट ‘एक जिला, एक उत्पाद’ (ODOP) के नाम बुधवार को एक और रिकॉर्ड (Record) दर्ज हो गया है। दुनिया में पहली बार डाक विभाग (Post Office) ने एक साथ ओडीओपी के 75 उत्पादों पर आधारित डाक टिकट जारी किए हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड दुनिया में 32 डाक टिकट का ही है। इस पहल से अब ओडीओपी की ब्रांडिंग वैश्विक स्तर पर और देश में भी मजबूत होगी। इससे प्रदेश के परंपरागत उत्पादों को नई पहचान मिलेगी। साथ ही कारीगरों को भी लाभ मिलेगा।

    सीएम योगी ने प्रदेश में पहली बार परंपरागत उत्पादों को नई पहचान देने के लिए ओडीओपी की शुरूआत 2017 में की थी। परंपरागत उत्पादों का जिले स्तर पर चयन किया गया और कारीगरों को वैल्यू एडिशन के लिए लोन से लेकर आर्थिक सहायता भी मुहैया कराई गई। 

    डाक विभाग ने 75 ओडीओपी डाक टिकट भी जारी किया 

    आज इसी कड़ी में डाक विभाग ने 75 ओडीओपी डाक टिकट भी जारी किया है। इस अभिनव प्रयोग से लोगों को अपने जिले के उत्पाद डाक टिकट के रूप में होने पर गर्व महसूस होगा। साथ ही जिन जिलों में इन लिफाफों को भेजा जाएगा, उन जिलों के लोगों को भी संबंधित जिले के उत्पादों की जानकारी होगी। 

    राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होगी यूपी की भी ब्रांडिंग: डॉ. नवनीत

    एमएसएमई के अपर मुख्य सचिव डॉ. नवनीत सहगल ने बताया कि हर जिले के डाक विभाग में उसी जिले का ओडीओपी डाक टिकट मिलेगा। ओडीओपी डाक टिकट का उपयोग सरकारी कार्य में भी किया जाएगा। इसके लिए अफसरों को जल्द निर्देश जारी किए जाएंगे। इस अभिनव प्रयोग से एक ओर ओडीओपी की ब्रांडिंग होगी। वहीं, दूसरी तरफ ओडीओपी कारीगरों को भी इसका लाभ मिलेगा। साथ ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यूपी की भी ब्रांडिंग होगी। 

    ‘यूपी का हुनर, अब आपके घर’ लिखी है पंच लाइन

    उन्होंने बताया कि डाक विभाग की ओर से जारी किए गए इस लिफाफे को बेहद ही आकर्षक बनाया गया है। इस डिजाइनर लिफाफे के मुख्य भाग पर संबंधित जिले के ओडीओपी की फोटो और उसका नाम लिखा हुआ है। साथ ही नीचे ‘यूपी का हुनर, अब आपके घर’ पंच लाइन भी लिखी गई है। इसके अलावा पिछले हिस्से पर उस उत्पाद के बारे में हिंदी और अंग्रेजी में जानकारी दी गई है। इस डिजाइनर लिफाफे का उपयोग शादी, विवाह या अन्य कार्यक्रमों में भी किया जा सकता है।