ayodhya deepotsav
File

    Loading

    लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के निर्देशन में एक बार फिर भगवान श्रीराम (Lord Shri Ram ) की नगरी अयोध्या (Ayodhya) में दीपोत्सव (Deepotsav) को भव्य बनाने की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। अयोध्या में त्रेतायुग को जीवंत करने के लिए इस बार दीपोत्सव में 14 लाख से ज्यादा दीयों (Lamps) को जलाने का नया विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए पर्यटन विभाग ने कमर कस ली है। इसके अलावा अयोध्या के प्रमुख 21 मंदिरों में 4.50 लाख दीये जलाए जाएंगे। 

    पर्यटन विभाग ने सभी जिलों के डीएम को अपनी-अपनी ग्राम सभा से दस-दस दीये बनवाकर दीपदान करने को कहा है। ये सभी दीये सरयू तट पर राम की पैड़ी पर जलाए जाएंगे। विश्व रिकॉर्ड स्थापित करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम भी राम की पैड़ी पर उपस्थित रहेगी।

    डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय को सौंपे जाएंगे दीये 

    प्रमुख सचिव पर्यटन, मुकेश मेश्राम ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर हर साल दीपावली की पूर्व संध्या पर अयोध्या में भव्य दीपोत्सव मनाया जाता है। इस बार छठवें दीपोत्सव पर राम की पैडी में 14 लाख से ज्यादा दीयों को जलाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज कराया जाएगा। पिछली बार यहां 12 लाख से ज्यादा दीये जलाए गए थे। प्रमुख सचिव पर्यटन मुकेश मेश्राम ने बताया कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज कराने के लिए प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों को प्रत्येक ग्राम सभा से 10-10 दीये बनवाने का निर्देश दिया गया है। इन दीयों को डॉ.राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद को सौंपा जाएगा। इसके लिए जिलाधिकारी दीयों को दीपदान के संयोजक चीफ प्रॉक्टर डॉ. अजय प्रताप सिंह और पर्यटन विभाग के उप निदेशक राजेंद्र प्रसाद यादव को देंगे। 

    21 प्रमुख मंदिर 4.50 लाख दीयों से होंगे रोशन 

    पर्यटन विभाग के उप निदेशक राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि दीपोत्सव पर 14 लाख से ज्यादा दीये राम की पैड़ी में जलाए जाएंगे, जबकि अयोध्या के प्रमुख 21 मंदिरों में 4।50 लाख दीये जलाए जाएंगे। ये दीये गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज नहीं किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि राम जन्म भूमि पर 51 हजार, हनुमान गढ़ी पर 21 हजार दीये जलाए जाएंगे। इसी तरह कनक भवन, गुप्तार घाट, दशरथ समाधि, राम जानकी मंदिर साहबगंज, देवकाली मंदिर, भरत कुंड (नंदी ग्राम) समेत प्रमुख मंदिरों में 21 हजार दीये जलाए जाएंगे। वहीं पूरे अयोध्या को रोशन करने के लिए सामाजिक संगठनों को भी दीये वितरित किए जाएंगे। उप निदेशक ने बताया कि हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी राम लीला होगी, जिसमें कई देशों के कलाकार भाग लेंगे। इसके साथ ही आतिशबाजी और लेजर शो भी होगा।