barabanki

    बाराबंकी (उत्तर प्रदेश). एक तरफ जहाँ बाराबंकी (Barabanki) जिले के रामसनेहीघाट क्षेत्र में एक ट्रक के सड़क किनारे खड़ी बस से जा टकराने (Accident) से उसमें सवार 18 यात्रियों की मौत हो गई और 25 अन्य घायल हो गए। वहीं अब इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शोक और अफ़सोस प्रकट किया है।  इसके साथ ही इस हादसे में जान गंवाने वाले मृतकों के परिजनों को PMNRF से 2-2 लाख रुपये और घायलों को  50,000 रुपये की सहायता दी जा रही है। 

    PM मोदी ने व्यक्त किया शोक :

    आज बाराबंकी जिले के रामसनेहीघाट पर हुई इस दर्दनाक घटना पर शोक जताए हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, “शोकाकुल परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। अभी मुख्यमंत्री योगी से भी मेरी बात हुई है। सभी घायल साथियों के उचित उपचार की व्यवस्था की जा रही है। ”  इसके साथ ही  आज बाराबंकी में हुए दुखद हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए PMNRF से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की गई है। घायलों को 50,000 रुपये की सहायता दी जाने वाली है। 

    गौरतलब है कि पंजाब के लुधियाना से बिहार जा रही एक निजी ‘डबल डेकर’ बस को 27-28 जुलाई की दरमियानी रात रामसनेहीघाट क्षेत्र में लखनऊ-अयोध्या राजमार्ग पर कल्याणी नदी के पास सड़क किनारे खड़ी होने के बाद एक ट्रक के जोरदार टक्कर मार दी।  जिससे उसमें सवार 18 यात्रियों की मौके पर होई मौत हो गई और 25 अन्य घायल हो गए।  

    क्या कहती है पुलिस :

    इधर इस घटना पर लखनऊ क्षेत्र के अपर पुलिस महानिदेशक एस.एन.साबत ने बुधवार को बताया कि पंजाब के लुधियाना से बिहार जा रही एक निजी ‘डबल डेकर’ बस 27-28 जुलाई की दरमियानी रात रामसनेहीघाट क्षेत्र में लखनऊ-अयोध्या राजमार्ग पर कल्याणी नदी के पास ‘एक्सेल’ टूट जाने की वजह से सड़क के किनारे खड़ी थी। बस ठीक होने में देर लगने की बात बताए जाने पर यात्री बस से बाहर निकल आए थे और कुछ लोग बस के आगे सड़क पर लेटे भी हुए थे।

    तभी रात करीब 12 बजे पंजाब से बिहार जा रहा नागालैंड का एक ट्रक अनियंत्रित होकर बस से जा टकराया। उन्होंने बताया कि हादसे में बस में सवार 18 लोगों की मौत हो गई तथा 25 अन्य घायल हुए हैं। मृतकों में से आठ की पहचान बिहार के सुरेश यादव (35), इंदल महतो (25), सिकंदर मुखिया (40), मोनू साहनी (30), जगदीश साहनी (40), जय बहादुर साहनी (40) , बैजनाथ राम (55) और बलराम मंडल (55) के तौर पर हुई है। बस सवार ज्यादातर लोग बिहार के निवासी थे। 

    साबत ने यह भी बताया कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजे दिया गया है और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायलों में से आठ की हालत गंभीर थी, इसलिए उन्हें इलाज के लिए लखनऊ भेजा गया है। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि भारी बारिश के चलते बचाव कार्य में भी समस्या आई। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से बस के यात्रियों को बाहर निकाला। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

    CM योगी आदित्यनाथ ने व्यक्त किया शोक :

    इधर इन सबके बीच राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे में घायल लोगों का समुचित उपचार कराने तथा प्रभावित लोगों को हर संभव मदद तथा राहत प्रदान करने के निर्देश भी दिए हैं।