PM नरेंद्र मोदी- CM योगी आदित्यनाथ
PM नरेंद्र मोदी- CM योगी आदित्यनाथ

Loading

लखनऊ : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की 80 लोकसभा (Lok Sabha Elections 2024) सीटों को जीतने का ख्वाब पालने वाले भारतीय जनता पार्टी (BJP) सबसे 14 हारी हुई लोकसभा सीटों पर अपने प्रत्याशियों का ऐलान करने की तैयारी कर रही है, ताकि वह अपनी चुनावी तैयारी में अन्य दलों से आगे निकल सके। इसके लिए भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति में बैठक हो रही है। इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र चौधरी और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को भी शामिल होने के लिए बुलाया गया है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि इन 14 सीटों में से कुछ सीटें भारतीय जनता पार्टी अपने सहयोगी दलों को भी दे सकती है।

भारतीय जनता पार्टी द्वारा 2019 के लोकसभा चुनाव में हारी सीटों में शामिल गाजीपुर, घोसी, नगीना, सहारनपुर, बिजनौर, अमरोहा, श्रावस्ती, अंबेडकर नगर, लालगंज, जौनपुर, मैनपुरी, मुरादाबाद, संभल और रायबरेली सीट शामिल है। इन सीटों पर पार्टी को तीन-तीन नाम का पैनल सौंपा गया है। इन सभी सीटों पर 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा था। इनमें से रामपुर और आजमगढ़ की लोकसभा सीट भारतीय जनता पार्टी ने उपचुनाव के दौरान जीत ली थी।

नरेंद्र मोदी-अमित शाह

आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी पहली सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह की लोकसभा सीट के अलावा अन्य 14 सीटों पर प्रत्याशियों को तय करने का सिलसिला जारी है। भारतीय जनता पार्टी ने यूपी में मिशन 80 का लक्ष्य रखा है। इसके लिए सभी वर्गों को साधने की पहल शुरू हो रही है। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को ग्राम यात्रा अभियान के जरिए सभी गांव में संपर्क करने का प्लान समझाया है। इसके तहत सरकार के मंत्री गांव में प्रवास करेंगे और भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश करेंगे।