yogi

  • सीर गोवर्धन के पर्यटन विकास का कार्य 15 करोड़ 14 लाख रु. की लागत से कराया जा रहा
  • मुख्यमंत्री ने प्रातः काल सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर में दर्शन पूजन और मत्था टेकने के पश्चात व्यवस्था के बारे में जानकारी ली
  • मुख्यमंत्री ने लंगर भवन का निरीक्षण किया
  • निर्माण सम्बन्धी सभी कार्य युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय सीमा के अंदर तत्काल पूर्ण कराने के निर्देश

लखनऊ : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने आज जनपद वाराणसी (Varanasi) के सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर क्षेत्र के पर्यटन विकास कार्याें (Tourism Development Works) का स्थलीय निरीक्षण किया। ज्ञातव्य है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी की घोषणा के अनुसार सीर गोवर्धन के पर्यटन विकास का कार्य 15 करोड़ 14 लाख रुपये की लागत से कराया जा रहा है।

मुख्यमंत्री  ने प्रातः काल सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर में दर्शन पूजन किया। मंदिर के निकट परियोजना/विस्तारीकरण कार्य स्थल पर पहुंचकर मौके पर उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम द्वारा निर्मित लंगर भवन का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने निर्माण निगम के अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि निर्माण संबंधी सभी कार्य युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय सीमा के अंदर तत्काल कार्य पूर्ण कराएं। पर्यटन और धर्मार्थ कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. नीलकंठ तिवारी ने सीर गोवर्धन में हो रहे पर्यटन विकास कार्य के बाबत मुख्यमंत्री को विस्तार से अवगत कराया कि सभी कार्य समय से पूर्ण करा लिए जाएंगे।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि पार्क निर्माण के लिए अब तक 60 प्रतिशत जमीनों का अधिग्रहण किया जा चुका है, जहां गुरु रविदास की कांस्य प्रतिमा स्थापित की जाएगी। इसके अलावा अनुयायियों और दर्शनार्थियों के सुगम यातायात के लिए तीन मार्गों, ट्राॅमा सेंटर से संत रविदास मंदिर मोड़ तक, रविदास मंदिर मोड़ से नेशनल हाइवे तक सड़क का सुदृढ़ीकरण और रविदास मंदिर से लंगर हाल होते हुए नेशनल हाइवे तक सड़क का निर्माण कार्य किया जा रहा है।

इस अवसर पर पिछड़ा वर्ग कल्याण और दिव्यांगजन सशक्तिकरण मंत्री अनिल राजभर, कमिश्नर दीपक अग्रवाल सहित अन्य विभागीय अधिकारी और  जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।