विकास ही उज्ज्वल, मंगलमय भविष्य की गारंटी : सीएम योगी

    गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा कि गोरखपुर जिन कारणों से बदनाम था, आज उनसे मुक्त हो चुका है। गोरखपुर की पहचान सबसे तेज विकास की प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ते हुए महानगर (Metropolis) के रूप में स्थापित हो रही है। विकास ही एक उज्जवल (Bright) और मंगलमय भविष्य (Happy Future) की गारंटी हो सकती है और उस विकास के साथ हम सब को जुड़कर गोरखपुर को और आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि हर एक को न्याय मिले, हर इजे व्यक्ति अपने आप को सुरक्षित महसूस (Feel Safe) करे, यही सरकार की मंशा और प्राथमिकता है। विकास की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के साथ व्यक्ति को न्याय मिलना व दिखना भी चाहिए।

    सीएम योगी महंत दिग्विजयनाथ स्मृति पार्क में आयोजित समारोह के दौरान जिले में सड़क (Road), बाढ़ सुरक्षा (Flood Protection), शिक्षा (Education) आदि से संबंधित 144 करोड़ रुपए से अधिक की 61 विकास परियोजनाओं (Development Projects) का लोकार्पण और शिलान्यास (Foundation Stone) करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने 33.16 करोड़ रुपए की 40 परियोजनाओं का लोकार्पण व 111.33 करोड़ रुपए की 21 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। 

    इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विकास एक निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया है। इसमें आम जनमानस की सहभागिता आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक योग्य जनप्रतिनिधि निरंतर प्रयास करके अपने क्षेत्र के लिये परियोजनाएं लेकर आता है और आज उसका परिणाम है कि जनपद की एवं गोरखपुर कमिश्नरी की प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में विकास देखने को मिल रहा है। कहीं सड़क बन रही है, कहीं स्कूल-कालेज बन रहे हैं। कहीं उद्योग-धंधे लग रहे हैं। कहीं कस्तूरबा गांधी विद्यालय का निमार्ण हो रहा है। कहीं पर अटल आवासीय विद्यालय का निमार्ण हो रहा है। कहीं पर आपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत बेसिक परिषद से जुड़े हुए विद्यालयों के नव निमार्ण की कायर्वाही आगे बढ़ रही है। बाढ़ बचाव से जुड़े काम हो रहे हैं। कहीं मेडिकल कॉलेज तो कहीं अस्पताल का निमार्ण हो रहा है। कुछ न कुछ कार्य हर क्षेत्र में निरंतर हो रहे हैं। 

    विकास योजनाओं में अपना योगदान दे जनता

    सीएम ने कहा कि सरकार धनराशि देती है और हमारे सांसदगण, विधायकगण उससे विकास योजनाओं के लिए प्रयास करते हैं। सरकार उसको स्वीकृत कर धनराशि अवमुक्त करती है। जनता का भी दायित्व है कि सकारात्मक रूप से विकास की इन परियोजनाओं में अपना सहयोग करते हुए उसे समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ाने में योगदान दे। 

    कार्य मे बाधा आने से राजस्व पर विपरीत असर

    मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्य मे किसी भी प्रकार की कोई बाधा नही आना चाहिए। क्योंकि यदि कोई बाधा आती है और कार्य में देरी हुई तो उसका रिवाइज स्टीमेट प्रस्तुत किया जाता है जिससे प्रदेश के राजस्व पर उसका विपरीत असर पड़ता है। साथ ही विकास की परियोजना में देरी होने के कारण आम जनमानस को भी काफी परेशानी होती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा बड़ी-बड़ी परियोजनाए संचालित की जा रही हैं। ऐसे में जब जनता भी सकारात्मक भाव के साथ परियोजनाओं के साथ जुड़ती है तो कार्य मानक की गुणवत्ता को बनाये रखते हुए समयबद्ध ढंग से इन परियोजनाओं को आगे बढ़ाने में मदद मिलती है।  

    स्थापित हो रहा नया गोरखपुर, दिख रही नई तस्वीर

    सीएम ने कहा कि आज गोरखपुर एक नए गोरखपुर के रूप में स्थापित हो रहा है। वाराणसी से गोरखपुर और गोरखपुर से सोनौली मार्ग फोरलेन बनने के साथ तेजी से आगे बढ़ रहा है। नया फोरलेन पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के रूप में उपलब्ध हो रहा है। पहले महानगर से बीआरडी मेंडिकल कॉलेज का रोड बहुत संकरा और व्यस्त था लेकिन आज महानगर से मेडिकल कॉलेज की तरफ जायेंगे तो फोरलेन का उच्च स्तरीय मार्ग बनकर तैयार है। ऐसे ही मोहद्दीपुर से गोरखनाथ मंदिर से होते हुए सौनौली मार्ग पर जंगल कौड़िया की तरफ जाते हैं तो जंगल कौड़िया तक यह मार्ग फोरलेन बनने के साथ ही लाइट की जगमगाहट से विकास की एक नई कहानी कहता है। गोरखपुर से नेपाल जाने वालेे वाहनों को शहर के अंदर न आना पड़े, इसके लिए जंगल कौड़िया से कालेसर तक एक नया बाईपास भी बनकर तैयार है। ऐसे तमाम अन्य कार्य चल रहे हैं। सीएम ने कहा कि गोरखपुर का एम्स प्रारम्भ हो गया है। प्राणी उद्यान मनोरंजन और ज्ञानवधर्न के रूप में विकसित हुआ है। इसके साथ ही रामगढ़ताल पयर्टन की दृष्टि से निरंतर विकसित हो रहा है। रात्रि को फटिर्लाइजर कारखाने की लाइट गोरखपुर की एक नई तस्वीर पेश कर रही है। 

    जल जमाव से निजात को युद्ध स्तरीय प्रयास

    सीएम योगी ने कहा कि हमारा प्रयास है कि बरसात के दौरान गोरखपुर महानगर में कहीं भी जल जमाव की समस्या न हो। इसके लिये अभी से प्रयास करना है। प्रशासन युद्ध स्तर पर जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर इस कार्य को आगे बढ़ा रहा है। शहर के अंदर बरसात के दौरान जल जमाव की स्थिति न आये इसके लिये अनेक कार्य चल रहे हैं। गोड़धेाइया नाले की सफाई के साथ ही रामगढ़ताल से तरकुलानी के बीच नाला बनाने का कार्य तेजी से चल रहा है। जितना भी शहर का पानी होगा रामगढ़ताल होते हुए तरकुलानी में पहुंचेगा और वहां से पूरा पानी गुर्रा नदी और राप्ती नदी में जायेगा। 

    नियमित जनता की समस्याएं सुनें जनप्रतिनिधि और अधिकारी

    मुख्यमंत्री ने कहा कि नियमित रूप से हम लोग जनता की समस्याओं को सुनें। अगर कोई जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी नियमित रूप से जनता की समस्याओं के निस्तारण के लिए काम करे तो तमाम विवादो का समाधान जनसुनवाई के माध्यम से ही हो सकता है। उन्होंने कहा कि महीने में दो बार तहसील/थाना दिवस आयोजित किये जाएं और यह भी सुनिश्चित हो कि ग्राम पंचायत की समस्याओं का समाधान उसी स्तर पर हो। सकारात्मक सहयोग से विकास को आगे बढ़ाया जाये। लोकार्पण और शिलान्यास समारोह के दौरान सीएम योगी ने अपने हाथों से पांच क्षय रोगियो के परिजनों को किट्स, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना और मुख्यमंत्री आवास योजना के छह लाभाथिर्यों को आवास की चाबी तथा गोंवश रक्षा के लिए भूसा दान देने वाले तीन लोगों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया।

    इस अवसर पर सांसद रवि किशन, कमलेश पासवान, राज्यसभा सदस्य जय प्रकाश निषाद, महापौर सीताराम जायसवाल, विधायक महेन्द्र पाल सिंह, विपिन सिंह, डॉ. विमलेश पासवान, राजेश त्रिपाठी, श्रीराम चैहान, सरवन निषाद, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेंद्र सिंह, जिला अध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता, मण्डलायुक्त रवि कुमार एनजी, जिलाधिकारी विजय किरन आनंद, जीडीए उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह आदि उपस्थित रहे।