Prime Minister Modi inaugurated Rani Kamalapati railway station, said- the pride of railways is now connected with the pride of Gondwana

    -राजेश मिश्र

    लखनऊ : दिल्ली (Delhi) के करीब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) के जेवर में बन रहे अंतरर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Jewar Airport) पर 34,000 करोड़ रुपए का कुल निवेश होगा। जेवर हवाई अड्डे का शिलान्यास गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) करेंगे। यह उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का पांचवा अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के मुताबिक, नोएडा (Noida) के जेवर में बनने वाले इस हवाई अड्डे के पहले चरण में 10000 करोड़ रुपए का निवेश संभावित है, जबकि इसके समूचे निर्माण में 34-35000 करोड़ रुपए का कुल निवेश होगा। इस हवाई अड्डे के चालू हो जाने से एक लाख से ज्यादा लोगों को नौकरी या स्वरोजगार के अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि यह एयरपोर्ट एक संयुक्त उपक्रम है। नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण के साथ राज्य सरकार एयरपोर्ट के निर्माण की कार्यवाही को आगे बढ़ा रही है।

    उन्होंने कहा कि जेवर इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जनपद गौतमबुद्ध नगर, बुलन्दशहर, अलीगढ़, हापुड़ और एनसीआर में उत्तर प्रदेश के आसपास के क्षेत्र के लोगों की व्यावसायिक और औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आएगी।

    2024 तक संचालित होने लगेगा अंतरर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि जेवर (नोएडा)  प्रदेश का पांचवां अंतरर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है जोकि वर्ष 2024 तक संचालित होने लगेगा। नोएडा इण्टरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट भारत का पहला प्रदूषण मुक्त एयरपोर्ट होगा। साथ ही, यह एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के करीब ही प्रदेश सरकार फिल्म सिटी बना रही है जो अपने अंतिम चरणों में है। उन्होंने कहा कि यहां पर निवेश की बहुत सारी सम्भावनाएं हैं। इससे सटे हुए क्षेत्र में ही यहां पर एक मेडिकल डिवाइस पार्क विकसित किया जा रहा है। एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी स्थापित करने की कार्यवाही भी युद्ध स्तर पर चल रही है। इस क्षेत्र के निकट जनपद अलीगढ़ में डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर का एक महत्वपूर्ण नोड है। 

    आज उत्तर प्रदेश में 9 एयरपोर्ट संचालित हो रहे  हैं

    सीएम योगी के मुताबिक, प्रदेश में लखनऊ और वाराणसी में इण्टरनेशनल एयरपोर्ट पहले से ही संचालित हैं। अभी बीते दिनों प्रधानमंत्री ने कुशीनगर में एक इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन किया है। अयोध्या में एक इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण तेजी से चल रहा है। प्रदेश सरकार ने एयर कनेक्टिविटी के कार्यों को बहुत तेजी से आगे बढ़ाया है। उड़ान योजना के चलते आज उत्तर प्रदेश में 9 एयरपोर्ट संचालित हो रहे  हैं। वर्ष 2017 में प्रदेश के एयरपोर्ट केवल 25 स्थानों से जुड़े हुए थे, जिनकी संख्या आज 80 से अधिक हो चुकी है। प्रदेश सरकार 11 नये एयरपोर्ट को विकसित करने का काम कर रही है। इनमें सोनभद्र, चित्रकूट, ललितपुर, आजमगढ़, श्रावस्ती, अलीगढ़, सहारनपुर, मेरठ और मुरादाबाद शामिल हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने इण्टरस्टेट कनेक्टिविटी को लगातार मजबूत किया है। विशेष तौर पर नेपाल, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और उत्तराखंड की कनेक्टिविटी को 4 लेन से जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है।