यूपी में धान खरीद ने पकड़ी रफ्तार, सरकार ने किसानों से अब तक खरीदा लगभग आठ लाख मीट्रिक टन धान

    लखनऊ: किसानों (Farmers) को अधिक से अधिक लाभ देने में जुटी यूपी सरकार (UP Government) ने धान (Paddy) खरीदने की रफ्तार को काफी तेज कर दिया है। एक अक्टूबर से अभी तक कुल 1,08,797 किसानों से 64 हजार मीट्रिक टन की धान खरीद की गई है। वर्तमान समय में 72 जिलों के 3,386 सेन्टरों पर बड़ी तेजी से धान खरीदा जा रहा है, जबकि पिछले साल 68 जिलों में आज तक 3510 सेन्टरों पर रही धान खरीद हो पाई थी। धान खरीद में नए रिकॉर्ड (New Records) बनाने के लिए सरकार हर संभव प्रयास करने में जुटी है। प्रदेश सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए कई व्यवस्थाएं की हैं। अधिकारियों को भी धान क्रय केन्द्रों पर नजर रखने और किसानों को किसी प्रकार की समस्या नहीं आने की हिदायत दी हैं। 

    किसानों के हितों का ध्यान रखने वाली यूपी सरकार ने इस साल धान खरीद के लिए प्रदेश में 139 केन्द्र बढ़ाए हैं। प्रदेश में कुल 4370 धान क्रय केन्द्र खोले गये हैं, जबकि पिछले साल इनकी संख्या 4231 थी। सरकार की ओर से की गई व्यवस्थाओं से किसानों में भी खुशी दिखाई दे रही है। वे भी बड़ी संख्या में इच्छानुसार धान केन्द्रों पर पहुंचकर अपनी फसल बेच रहे हैं। पश्चिमी और पूर्वी यूपी में 07.480 एलएमटी धान की प्रगतिशील खरीद की गई है। कुल 1453.35 करोड़ रुपए का धान किसानों से खरीद लिया गया है। जबकि पिछले साल आज के दिन तक सरकार ने 2.90 लाख किसानों से 16.42 एलएमटी धान खरीदा था। 

    किसानों के खाते में जा रहा पैसा

    गौरतलब है कि सरकार की मंशा किसानों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाना है। कम्प्यूटरीकृत प्रणाली के तहत सीधे किसानों से पारदर्शी धान खरीद का लाभ मिल रहा है। साथ में किसानों को इच्छानुसार किसी भी केन्द्र पर धान बेचने की सुविधा दी गई है। किसानों को धान के मूल्य का भुगतान भी उनके खातों में 72 घंटों के अंदर किया जा रहा है।