Administration's big decision before Holi in UP, leave of all police personnel canceled till March 20
File

    उन्नाव (उप्र): सड़क दुर्घटना (Accident) में दो युवकों की मौत (Death) के बाद परिजनों को मुआवजा (Compensation) दिए जाने की मांग को लेकर अकरमपुर क्षेत्र में उन्नाव-कानपुर मार्ग पर प्रदर्शन (Protest) कर रहे ग्रामीणों ने पुलिस (Police) पर पथराव कर दिया जिसमें 12 पुलिसकर्मी घायल (Injured) हो गए। इस संबंध में 43 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 100 नामजद तथा 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

    पुलिस के अनुसार मंगलवार को शहर कोतवाली क्षेत्र के देवीखेड़ा गांव निवासी राजेश (32) की मोटरसाइकिल को कार ने टक्कर मार दी थी। हादसे में राजेश और मोटरसाइकिल पर पीछे बैठे उसके दोस्त विपिन (25) की मौत हो गई थी। पुलिस अधीक्षक आंनद कुलकर्णी ने बृहस्पतिवार को बताया कि मंगलवार रात पोस्टमॉर्टम के बाद दोनों युवकों के शव परिजनों को सौंप दिए गए थे।

    बुधवार को, परिजनों ने सड़क पर शव रखकर ग्रामीणों की मदद से बुधवार सड़क जाम कर दी। प्रदर्शन कर रहे लोग परिजनों को मुआवजा देने और हादसे के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सड़क खुलवाने के लिए ग्रामीणों को समझाने पहुंचे उपजिलाधिकारी और पुलिस बल पर लोगों ने पथराव कर दिया जिसमें एक दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए। इस संबंध में 43 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है और 100 नामजद तथा 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

    वहीं, पुलिस महानिरीक्षक (लखनऊ) ने ट्वीट कर जानकारी दी कि दायित्व में लापरवाही बरतने के आरोप में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली सदर दिनेश मिश्रा, चौकी प्रभारी मगरवारा और दो अन्य आरक्षियों को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) से स्पष्टीकरण मांगा गया है। पूरे प्रकरण की जांच अपर पुलिस अधीक्षक (रायबरेली) को दी गई है।