yogi
File Pic

    नयी दिल्ली.  देश में जहाँ  बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ (Omicron) के 122 नए मामले सामने आने के बाद, अब इस स्वरूप के मामले बढ़कर 358 हो गए हैं। लेकिन अच्छी बात ये है कि इनमें से 114 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं या अन्य स्थानों पर चले गए हैं। ये मामले 17 राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में ही सामने आए हैं।

    इधर अब लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए बीते गुरूवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य सरकारों के साथ समीक्षा बैठक की।  बैठक में केंद्र ने राज्यों से कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में अपनी तैयारी बनाए रखने का निर्देश दिया और नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के मद्देनजर 5 गुना रणनीति का पालन करने के लिए भी करने को उन्होंने कहा।  

    उत्तर प्रदेश: नाईट कर्फ्यू और नए नियम 

    इसी क्रम में अब उत्तर प्रदेश के लखनऊ में पहले ही धारा 144 लागू कर दी गई है।  इसके साथ ही सार्वजनिक जगहों पर सामाजिक दूरी और मास्क का उपयोग अनिवार्य किया गया है।  वहीं मिली खबर के अनुसार अब उत्तरप्रदेश में 25 दिसंबर से रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक का कर्फ्यू लगाया जाएगा। इसके साथ ही शादियों में अब 200 से ज्यादा लोगों को शरीक करने कि इजाजत नहीं है। 

    उत्तर प्रदेश के मुख्‍य सचिव (सूचना) नवनीत सहगल ने शुक्रवार को जारी एक बयान में बताया कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने उच्‍च स्‍तरीय टीम को निर्देश दिया है कि देश के विभिन्न राज्यों में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है, ऐसे में कुछ कड़े कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। 

    ये हैं नए नियम 

    • 25 दिसंबर से प्रदेशव्यापी रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू प्रभावी किया जाए और हर दिन रात्रि 11 बजे से प्रातः पांच बजे तक रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू लागू होगा।
    • शादी-विवाह आदि सार्वजनिक आयोजनों में अधिकतम 200 लोगों के भागीदारी की अनुमति होगी। 
    • बाजारों में “मास्क नहीं तो सामान नहीं” के संदेश ले तहत बिना मास्क कोई भी दुकानदार ग्राहक को सामान नहीं मिलेगा। 
    • हर किसी के लिए मास्क अनिवार्य और पुलिस बल लगातार गश्त करेगा।  
    • बस, रेलवे और हवाई अड्डे पर अतिरिक्त सतर्कता बरती जाए। 

    गौरतलब है कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे पर अब इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी अपनी चिंता जताई थी।  इसके साथ ही हाईकोर्ट ने आगामी UP विधानसभा चुनावों को लेकर भी एक बड़ी अपील की है।  इसके तहत हाईकोर्ट ने प्रधानमंत्री और चुनाव आयुक्त से चुनावों को टालने पर विचार करने को कहा है।  साथ ही हाईकोर्ट ने कहा कि प्रधानमंत्री इस पर गहनता से विचार करें क्योंकि, ‘अगर जान है तो जहान है’।