बसपा प्रमुख मायावती (Photo Credits-ANI Twitter)
बसपा प्रमुख मायावती (Photo Credits-ANI Twitter)

    लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मंगलवार को दावा किया कि बसपा की सरकार में राज्य के विकास के लिए असंख्य कार्य किए गए। उन्‍होंने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी (सपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकारों ने उनके द्वारा किये गये कार्यों को रूप बदलकर पेश किया।  

    मायावती ने मंगलवार को यहां बसपा प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा, ”बसपा अन्य पार्टियों की तरह विज्ञापन देकर हल्ला नहीं करती बल्कि काम करने में विश्वास रखती है। इसीलिए हमारी पार्टी बिना घोषणा पत्र के जमीनी स्तर पर काम करना पसंद करती है।” उन्होंने कहा कि राज्य में चार बार बसपा की सरकार रही है और उसने राज्‍य और लोगों के कल्याण व विकास के लिए असंख्य ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘राज्य की जनता को हमारे कार्यों की याद दिलाने के लिए, लोगों तक पहुंचाने के लिए एक फोल्डर तैयार किया गया है। आने वाले चुनावों में अगर बसपा फिर से सरकार बनाती है तो वह सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय के लिए काम करती रहेगी।” 

     

    बसपा प्रमुख ने कहा, “जब हमारी फिर से सरकार बनेगी तो हम राज्य के विकास और गरीबों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों, वकीलों, कर्मचारियों, छात्रों, महिलाओं और बुजुर्गों के कल्याण के लिए उसी पैटर्न पर काम करेंगे।” उन्होंने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को किसानों के साथ मिल बैठकर उनकी समस्याओं का समाधान करने का सुझाव दिया और कहा कि केंद्र सरकार को इस मामले को ज्यादा नहीं लटकाना चाहिए।  

    मायावती ने कहा, ”केंद्र सरकार ने तीन कृषि कानून तो वापस ले लिए हैं, लेकिन सरकार को किसान संगठनों के साथ बैठकर उनकी समस्याओं का समाधान करना चाहिए ताकि किसान खुशी-खुशी अपने घर वापस जाकर अपने काम में लग जाएं।” उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस मामले को ज्यादा नहीं लटकाना चाहिए। इस पत्रकार वार्ता से पहले मायावती ने उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति (दलित) के लिए आरक्षित 86 विधानसभा क्षेत्रों की समीक्षा बैठक की।

    बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र के कार्यालय से जारी बयान के अनुसार नौ अक्टूबर को बसपा संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर जिले के सभी अध्यक्षों को निर्देश जारी किये गये थे कि अपने-अपने जिलों में कैडर (पोलिंग बूथ कमेटी) बनाएं और उनकी बंद कमरे में बैठक लें, साथ ही कमेटी के पदाधिकारियों के कामों की समीक्षा करें।  

    मायावती ने कहा, ‘‘मुझे यह भरोसा है कि विधानसभा क्षेत्रों के प्रभारी और अध्यक्ष 2007 की तरह बसपा को इस बार भी भारी बहुमत से जीत दिलाएंगे।”  पूर्व मुख्‍यमंत्री ने कहा, ‘‘चुनाव में जीत के लिए और प्रदेशवासियों को याद दिलाने के लिए फोल्डर तैयार किया गया है जो जन-जन तक पहुंचाया जाएगा। इस फोल्डर के माध्यम से जनता तक बात पहुंचाई जाएगी कि बसपा जब सरकार में थी तो जमीनी स्तर पर कितना काम किया गया था। बहुजन समाज पार्टी द्वारा किये गए कार्यों का रूप बदलकर अन्य पार्टियां पेश कर रही हैं।”(एजेंसी)