YOGI
File Photo

    नई दिल्ली: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) से पहले सूबे का सियासी पारा गरमाया हुआ है। लगातार सियासी बयानबाजी हो रही है। इन सब के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने एक बड़ा ऐलान किया है। सरकार के फैसले में कहा गया कि हर साल प्राथमिक विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को निशुल्क ड्रेस वितरण में होने वाली समस्याओं को खत्म करने के लिए अब उनके माता-पिता के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करेगी। योगी कैबिनेट का यह फैसला चुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है। 

    ज्ञात हो कि योगी सरकार के इस फैसले से निशुल्क ड्रेस वितरण में आने वाली दिक्कतों से निजात मिलेगी। पैसे छात्र-छात्राओं के माता-पिता के सीधे अकाउंट में आएंगे। कहा जा रहा है सरकार यूनिफॉर्म के साथ जूता-मोजा का भी पैसा देगी। योगी सरकार अब विद्यालयों में पढ़ने वाले कक्षा एक से आठ तक के 1.6 करोड़ से अधिक बच्चों को ड्रेस, स्वेटर, जूता-मोजा और स्कूल बैग देने की बजाय इन वस्तुओं को खरीदने के लिए बच्चों के माता-पिता के बैंक खातों में सीधे पैसे भेजेगी। 

    ज्ञात हो कि यूपी के विद्यालयों में पढ़ने वाले हर बच्चे के माता-पिता के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के तहत 1100 रुपये सरकार भेजेगी। जिसके तहत कुल 1800 करोड़ रुपये की रकम अभिभावकों के खाते में आएगी। इस फैसले के अनुसार यूनिफॉर्म के लिए प्रति जोड़ी 300 रुपये की दर से 600 रुपये, एक स्वेटर के लिए 200 रुपये, एक जोड़ी जूते और दो जोड़ी मोजे के लिए 125 रुपये दिए जाएंगे। साथ ही एक स्कूल बैग के लिए 175 रुपये मिलेंगे। 

    वहीं अब तक स्कूलों में ये चीजे विभाग की तरफ से छात्रों को फ्री में दी जाती थी। जिसके लिए अलग-अलग प्रोसेस थी। बावजूद इसके इन सामानों की क्वालिटी और भ्रष्टाचार की शिकायतें लगातार की जाती थी। यही कारण है कि सरकार ने इसे ध्यान में रखते हुए ये बड़ा फैसला किया है।