ओपी राजभर (Photo Credits-ANI Twitter)
ओपी राजभर (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) के नतीजे 10 मार्च को आने वाले हैं। लेकिन उससे पहले ही सूबे में ईवीएम (UP EVM Politics) को लेकर सियासी संग्राम शुरू है। बताना चाहते हैं कि यूपी में चुनाव नतीजों से पहले ही ईवीएम की मूवमेंट को लेकर विवाद खड़ा हुआ है। इस मामले में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बीजेपी (BJP) को घेरा है। अब सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओपी राजभर (OP Rajbhar) ने भाजपा को घेरते हुए निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि भाजपा हताश होकर फर्जी तरीके से गड़बड़ी कर रही है।

    ज्ञात हो कि ओपी राजभर ने कहा कि 3 गाड़ियां EVM लेकर निकली है और ये बिना किसी को सूचित किए किया गया है। चुनाव आयोग की गाइडलाइन के मुताबिक उम्मीदवार को बिना बताए और बिना फोर्स के EVM को कहीं नहीं ले जाया जा सकता है। लेकिन उसे ढ़ककर ले जाया गया है।

    सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि ये घटना दर्शा रही है कि भाजपा हताश होकर फर्ज़ी तरीके से गड़बड़ी कर रही है। हमने इसकी शिकायत आयोग को दी है। इस मामले पर चुनाव आयोग ने भी बयान जारी किया है। आयोग ने कहा कि वाराणसी में गाड़ी से बरामद की गई ईवीएम मशीनें अधिकारियों के लिए मतगणना की ट्रेनिंग के मकसद से लाई गई थीं। साथ ही इस मशीनों का चुनाव में उपयोग नहीं किया गया है। ईसी ने पत्र जारी कर इसका स्पष्टीकरण दिया है। 

    गौर हो कि इससे पहले अखिलेश यादव ने कहा था कि चुनाव में धांधली की कोशिश हो रही है। बनारस में ईवीएम से लदी तीन गाड़ियों को पकड़ा गया है। दो गाडियां निकल गई हैं। जबकि एक को समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पकड़ा है।