12 करोड़ टीकाकरण के करीब पहुंचा यूपी

    लखनऊ : यूपी (UP) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की दूसरी लहर अब पूरी तौर पर नियंत्रण में है। तेजी से टीकाकरण (Vaccination) और टेस्टिंग (Testing) का नतीजा है कि प्रदेश के 42 जिलों में आज एक भी एक्टिव केस (Active Case) दर्ज नहीं किया गया। वहीं, 17 जिलों में एक-एक एक्टिव केस ही शेष हैं। एक्टिव कोविड केस की संख्‍या यूपी में 123 रह गई है। 1 लाख 39 हजार 654 सैम्पल की टेस्टिंग में 5 जिलों में कुल 9 नए संक्रमित मरीज मिले। इस बीच 4 लोगों को डिस्चार्ज किया गया। अब तक 16 लाख 87 हजार 15 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण को मात दे चुके हैं।

    दूसरे प्रदेशों के मुकाबले यूपी में अब तक सबसे ज्‍यादा टेस्‍ट और टीकाकरण किया जा चुका है। प्रदेश ने अब तक 8 करोड़ 15 लाख से अधिक टेस्‍ट और 11 करोड़ 96 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया है। जिसमें 9 करोड़ 30 लाख को पहली डोज और 2 करोड़ 66 लाख को दूसरी डोज दी जा चुकी है। यूपी जल्द ही 12 करोड़ टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल कर सर्वाधिक टीकाकरण करने वाला पहला राज्य बन एक बार फिर से दूसरे प्रदेशों के समक्ष नजीर पेश करने को तैयार है। गौरतलब है कि कोविड टीकाकरण के लिए पात्र 17.53 फीसदी से अधिक लोग पूरी तरह कोविड टीकाकवर प्राप्त कर चुके हैं, वहीं 62.67 फीसदी से लोगों ने कम से कम एक डोज लगवा ली है।

    501 ऑक्‍सीजन प्‍लांट हुए क्रियाशील

    ट्रिपल टी, वैक्सिनेशन, कोरोना कर्फ्यू समेत दूसरे निर्णयों के कारण आज यूपी के हालात दूसरे प्रदेशों से बेहतर है। जिसका परिणाम है कि पॉजिटिविटी रेट 0.01 फीसदी हो गई है। प्रदेश का रिकवरी रेट 98.7 प्रतिशत दर्ज किया गया है। कम होते संक्रमण के बावजूद यूपी लगातार तेजी से टेस्टिंग कर रहा है। राज्य प्रभावी प्रोटोकॉल के साथ कोरोना की चेन तोड़ने में सफलता हासिल कर रहा है। यूपी में 548 ऑक्‍सीजन प्‍लांट में से 501 ऑक्‍सीजन प्‍लांट क्रियाशील हो चुके हैं।

    तेजी से दे रहे कोरोना को मात

    बीते 24 घंटों में अमरोहा, अयोध्या, बदायूं, बागपत, बलिया, बाराबंकी, बस्ती, बहराइच, बिजनौर, चन्दौली, चित्रकूट, देवरिया, एटा, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, गोंडा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, जौनपुर, झांसी, कानपुर देहात, कानपुर नगर, कासगंज, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर-खीरी, ललितपुर, महोबा, मीरजापुर, मैनपुरी, मऊ, प्रतापगढ़, रामपुर, संत कबीरनगर, शामली, श्रावस्ती, सीतापुर, उन्नाव और सोनभद्र में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं।