Population control is the primary condition for the progress of society: Yogi Adityanath

  • देश की बड़ी योजनाओं को प्रदेश में तेजी से किया लागू
  • 90 फीसदी से ज्यादा योजनाओं में यूपी बना नंबर वन
  • 09 करोड़ से अधिक वैक्‍सीनेशन से यूपी देशभर में आया अव्‍वल

लखनऊ.  मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के साढ़े 04 साल के कार्यकाल में उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) दूसरे राज्‍यों के लिए मिसाल (Example) बना है। उसने देश के सभी बड़े अभियानों की अगुवाई की है। प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) से गरीबों को आवास देना हो या फिर किसानों को किसान निधि सम्‍मान योजना से जोड़ना हो।

युवाओं को रोजगार देना हो या फिर कोरोना को मात देने के लिए वैक्‍सीनेशन। केन्‍द्र सरकार की 90 फीसदी से ज्यादा योजनाओं में यूपी नंबर वन बना है। 44 से अधिक योजनाओं के क्रियान्‍वयन में यूपी सरकार ने रिकार्ड कायम किये हैं। इसमें प्रदेश में एमएसएमई यूनिट की स्‍थापना और एमएसएमई के माध्‍यम से युवाओं को रोजगार दिलाने में यूपी ने कीर्तिमान बनाया है।

पारदर्शी तरीके से युवाओं को रोजगार

यूपी सरकार ने साढ़े 04 सालों में हर कदम पर एक नई इबारत लिखी है। सरकार निष्‍पक्ष और पारदर्शी तरीके से युवाओं को रोजगार, किसानों को समय पर भुगतान के साथ गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना से आवास और सौभाग्‍य योजना से 01.41 करोड़ से अधिक लोगों को नि:शुल्‍क बिजली कनेक्‍शन दे चुकी है। यूपी सरकार को प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना के बेहतर क्रियान्‍वयन के लिए पूरे देश में बेस्‍ट परफॉर्मेंस अवार्ड दिया गया। गन्ना उत्पादन में रिकार्ड बनाने के साथ बंद पड़ी चीनी मिलों को फिर से चालू करना भी ऐतिहासिक कदम रहा है। खाद्यान्न, गेहूं, आलू, आम, आंवला और मटरफली के उत्‍पादन में भी यूपी ने नंबर वन स्थान पाया है। 

7.02 करोड़ खाते खोले गए

यूपी देश में पहला राज्‍य है जिसने उज्‍जवला योजना के तहत 1.5 करोड़ परिवारों को नि:शुल्‍क गैस सिलेंडर उपलब्‍ध कराया है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत प्रदेश में सबसे अधिक 7.02 करोड़ खाते खोले गए। अटल पेंशन योजना के जरिए 36,60,615 लोगों को लाभ देकर यूपी देश में नंबर वन है। देश भर में सबसे अधिक 2 करोड़ 61 लाख शौचालयों का निर्माण भी यूपी में किया गया है। किसानों को मार्केट उपलब्‍ध कराने के लिए यूपी में सबसे पहले मंडी अधिनियम को लागू किया गया।

चिकित्सीय सेवाओं में भी यूपी निरंतर बढ़ा आगे

आमजन को मेडिकल सुविधाएं मुहैया कराने में यूपी सबसे अग्रणी राज्‍य है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर यूपी के हर जिले को सभी सुविधाओं से लैस मेडिकल कॉलेज का तोहफा दिया है। इसमें से 30 मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कार्य चल रहा है। कोविड वैक्‍सीनेशन में भी यूपी ने देश भर के राज्‍यों को पीछे छोड़ रिकार्ड बना दिया है। प्रदेश में अब तक 9 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना वैक्‍सीन दी जा चुकी है। कोरोना कालखंड के दौरान संक्रमण को मात देने के लिए चीनी मिलों में रिकार्ड सेनीटाइजर का उत्‍पादन किया गया। यूपी में बने सेनीटाइजर को दूसरे राज्‍यों में भी सप्‍लाई किया गया। पहली बार बड़ी संख्या में प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांटों की स्थापना करने में भी यूपी सबसे आगे रहा है। 

महिलाओं को मिल रहा सम्‍मान 

प्रदेश सरकार महिलाओं को आत्‍मनिर्भर के साथ स्‍वावलंबन से जोड़ रही है। स्वयं सहायता समूह के जरिए 01 करोड़ से अधिक महिलाएं स्‍वरोजगार से जुड़ी हैं। यूपी पहला राज्‍य है जिसने महिलाओं को सहूलियत और जल्‍द सुनवाई के लिए प्रदेश के सभी पुलिस स्‍टेशनों में महिला हेल्‍पडेस्‍क स्‍थापित की है। इसके साथ पिंक बूथ का निर्माण कराया है। 

ई-गर्वेनेंस में यूपी की एक्सीलेंट परफॉर्मेंस 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति रंग लाई है। जेम पोर्टल के माध्यम से देश में सबसे ज्यादा खरीद यूपी के सरकारी विभागों ने की है। देश में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है। ई-चालान व्‍यवस्‍था व ई-अभियोजन में यूपी सबसे आगे है। केन्‍द्रीय पंचायती राज विभाग ने यूपी को ई-गर्वेनेंस में एक्सीलेंट के परफॉर्मेंस अवार्ड से नवाजा है।