zakia-hyatt-of-meerut-have-amazing-memory-which-is-all-knowledge-about-country-and-abroad

मशकूर और उनकी पत्नी शबनम रोज जकिया (Zakia Hyatt) को सामान्य ज्ञान से जुड़े 6 सवाल पढ़ाते हैं।

उत्तर प्रदेश. वो कहते हैं न बच्चे भगवान का रूप होते हैं। बच्चों की मेमोरी काफी अच्छी होती है। एक बार उन्हें कुछ बता दिया तो वह उन्हें तमाम उम्र याद रहता है। आज हम आपको ऐसी ही एक बच्ची के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे देश और विदेश के सामान्य ज्ञान की तमाम चीजें मुंह जुबानी याद है। इस बच्ची का नाम जकिया हयात (Zakia Hyatt) है। जकिया साढ़े चार साल की हैं। जकिया का अभी स्कूल में दाखिला नहीं हुआ है। लेकिन, वह काफी सरलता से किसी भी सवाल का जवाब दे देती हैं।  

मेरठ (Meerut) के खरखौदा ब्लाक क्षेत्र के अजराड़ा में रहने वाले मशकूर हयात खरखौदा बीआरसी कार्यालय में सहायक हैं। मशकूर ने उर्दू से एमए किया है। वहीं, उनकी पत्नी शबनम ने बीए किया है। मशकूर को दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी साढ़े चार साल की जकिया हयात (Zakia Hyatt) और दूसरी बेटी मायरा दो साल की है। 

Video Courtesy : betab samachar express  

मशकूर और उनकी पत्नी शबनम रोज जकिया (Zakia Hyatt) को सामान्य ज्ञान से जुड़े 6 सवाल पढ़ाते हैं। जकिया (Zakia Hyatt) दिन भर वह 6 सवाल दोहराती हैं। इसके चलते जकिया को 1 साल के अंदर तमाम देशों की राजधानी, उत्तर प्रदेश के जनपद, विभिन्न वंश और युद्ध, राष्ट्रपति के नाम, देश के तमाम प्रधानमंत्रियो के नाम, धर्म समेत कई जानकारियां हो चुकी हैं।

जकिया (Zakia Hyatt) से कोई भी सवाल करने पर वह पलक झपकते ही सवाल का जवाब दे देती हैं। वहीं, एक मीडिया से बातचीत के दौरान जकिया ने बताया कि वह आइएएस अफसर बनकर अपने माता-पिता और देश का नाम रोशन करना चाहती हैं।  

जकिया (Zakia Hyatt) कई लोगों की मदद करने भी आगे आई हैं। जकिया के पास एक गुल्लक थी। जकिया ने चार साल में अपनी गुल्ल्क में करीब चार हजार रुपये जमा किये थे। कोरोना काल में जकिया ने कोरोना पीडि़तों की मदद करने के लिए अपनी गुल्लक पुलिस चौकी पर पहुंचकर दान की थी।

वहीं, जकिया (Zakia Hyatt) के पिता मशकूर का कहना है कि, उनकी बेटी के दिमाग का बेहतर ढंग से विकास हो, इसलिए जकिया को गाय का दूध और शाकाहारी भोजन दिया जाता है। जकिया (Zakia Hyatt) को बाहर का खाना पसंद नहीं है। वहीं, साढ़े चार साल की बच्ची सुबह पांच बजे उठकर अपने पिता के साथ चार सौ मीटर दौड़ लगाती है।