google Doodle, World Earth Day 2024
गूगल ने डूडल का अर्थ डे पर बदला (Social Media)

गूगल ने अपने डूडल को नया रूप देते हुए इस धरती दिवस को सेलिब्रेट किया है। जहां पर गूगल के होमपेज पर डूडल पर जलवायु परिवर्तन नजर आ रहा है।

Loading

नवभारत लाइफस्टाइल डेस्क: आज दुनियाभर में 22 अप्रैल को विश्व पृथ्वी दिवस (World Earth Day 2024) मनाया जा रहा है इसे लेकर गूगल ने अपने डूडल को नया रूप देते हुए इस धरती दिवस को सेलिब्रेट किया है। जहां पर गूगल के होमपेज पर डूडल पर जलवायु परिवर्तन नजर आ रहा है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य पर्यावरण का महत्व और उसके प्रति लोगों को जागरूक करना है।

जानिए कैसा है गूगल का डूडल

यहां पर गूगल के इस डूडल को आप देखते है तो आपको इसमें पांच तस्वीरें नजर आती है जिसमें पहली तस्वीर में समंदर के बीच में एक टापू है, एक रेगिस्तान की है फोटो है, एक जंगल के बीच से बहती नदी है, एक तस्वीर पहाड़ की है। इन तस्वीरों से ही गूगल लिखा हुआ है। इस साल की थीम प्लास्टिक बनाम प्लास्टिक है। इस डूडल से जलवायु परिवर्तन को दर्शाया गया है तो वहीं पर एक संदेश गया है कि, ‘जलवायु संकट और जैव विविधता के नुकसान से निपटने के लिए अभी भी बहुत कुछ करना बाकी है’ है। डूडल की वेबसाइट में कहा गया है कि ये छह लेटर लोगों को “टिकाऊ आदतें अपनाने और पानी, बिजली और अन्य संसाधनों के संरक्षण के लिए आवश्यक कार्य जारी रखने की याद दिलाते हैं।”



जानिए विस्तार से गूगल के डूडल लेटर्स को

यहां पर डूडल पर नजर आ रहे लेटर्स किसी ना किसी जगह या परिस्थिति को व्यक्त किया है। जिसे आप विस्तृत रूप से ऐसे समझ सकते है..

1. G-तुर्क और कैकोस द्वीप समूह पर प्रकाश डाला है जो अपनी जैव विविधता और प्राकृतिक संसाधनों और लुप्तप्राय प्रजातियों की रक्षा के लिए चल रहे प्रयासों के लिए जाना जाता है।
2.O- मेक्सिको में स्कॉर्पियन रीफ नेशनल पार्क दिखाया गया, जो मेक्सिको की दक्षिणी खाड़ी में सबसे बड़ी चट्टान है। यह यूनेस्को बायोस्फीयर रिजर्व जटिल प्रवाल भित्तियों की सुरक्षा करता है और लुप्तप्राय पक्षियों और कछुओं को आश्रय देता है।
3.L-नाइजीरिया में ग्रेट ग्रीन वॉल को दर्शाया गया है, “अफ्रीकी संघ के नेतृत्व वाली पहल पूरे अफ्रीका में मरुस्थलीकरण से प्रभावित भूमि को बहाल कर रही है, स्थायी भूमि प्रबंधन प्रथाओं को लागू करते हुए पेड़ और अन्य वनस्पति लगा रही है।”
4.E-अंतिम अक्षर ई ऑस्ट्रेलिया में पिलबारा द्वीप प्रकृति रिजर्व को दर्शाता है, जो ऑस्ट्रेलिया में 20 प्रकृति रिजर्वों में से एक है जो नाजुक पारिस्थितिक तंत्र, तेजी से दुर्लभ प्राकृतिक आवास और कई खतरे या लुप्तप्राय प्रजातियों की रक्षा करने में मदद करता है।”