400 सालों बाद घटित होगी ये अनूठी घटना, दो ग्रह आएंगे एक दूसरे के बेहद नज़दीक

साेमवार (Monday) का दिन (21 दिसंबर) किसी खास दिन से काम नहीं है। यह दिन किसी भी इंसान के ज़िंदगी में बस एक ही बार आता है। यह दिन खगाेल विज्ञान (Astronomy) के लिहाज़ से बहुत महत्वपूर्ण है। 400 साल (Year) बाद आज के दिन दाे ग्रहाें का महामिलान (Two Planets Conjuction) हुआ। यह बृहस्पति और शनि (Jupiter and Saturn) साथ आएं, साथ ही 21 दिसंबर साल का सबसे छाेटा दिन भी होता है। जहाँ दिन की अवधि मात्र 10 घंटे 42 मिनट 21 सेकंड होती है। 

शाम काे सूरज डूबने के बाद इन दाे ग्रहाें का महामिलान हुआ। इस मिलान एक दौरान इन ग्रहों की दूरी सबसे काम रही, जो मात्र 0.1 डिग्री हाेगी। भाेपाल में साेमवार शाम 5:39 बजे सूर्यास्त हुआ, इसके बाद पश्चिम दिशा में यह खगोलीय घटना देख सकेंगे।

397 साल बाद आए नज़दीक 

ग्रहों का यह महामिलन, आज से जुलाई, 1623 में हुआ था।लेकिन सूर्य के नज़दीक होने की वजह से लोगों उन्हें देख नहीं पाए थे। वहीं, उससे पहले मार्च, 1226 में दोनों ग्रह एक दूसरे के इतने नज़दीक आए थे, जिसे लोगों द्वारा देखा गया था। 

दो सप्ताह तक देखा जाएगा 

बृहस्पति और शनि का यह दुर्लभ महामिलन (Jupiter and Saturn Conjuction) अगले दो सप्‍ताह तक देखा जा सकता है। यह दोनों ग्रह अगले दो सप्ताह तक एक दूसरे के इतने नज़दीक होंगे कि मानों यह एक ही हैं। इस घटना की खास बात यह है कि 800 सौ साल पहले यह मौका रात के वक्त आया था और इस बार भी इसे रात को देखा जा सकेगा।

सकारात्मक रहेगा प्रभाव 

ज्योतिषों के अनुसार, बृहस्पतिके प्रभाव से आपराधिक प्रवृत्तियां कम होंगी। जबकि शनि के कारण सेवा कार्याें से जुड़े क्षेत्रों में बढ़ोत्तरी होगी। अगर यह सब को देखा जाए तो इस महामिलन का प्रभाव लोगों के लिए सकारात्मक होगा।