रोजर फेडरर ने फ्रेंच ओपन से हटने का किया फैसला, जानें क्या है वजह

    पेरिस. रोजर फेडरर (Roger Federer) ने तीसरे दौर में लगभग साढ़े तीन घंटे में मिली मुश्किल जीत के बाद खुद को उबरने का मौका देने के लिये रविवार को फ्रेंच ओपन टेनिस ग्रैंडस्लैम से हटने का फैसला किया। फ्रेच टेनिस महासंघ द्वारा जारी बयान में 20 बार के ग्रैंडस्लैम चैम्पियन ने कहा, “घुटने की दो सर्जरी और एक साल से ज्यादा के रिहैबिलिटेशन के बाद यह महत्वपूर्ण है कि मैं अपने शरीर की जरूरतों को देखूं और सुनिश्चित करूं कि मैं उबरने की प्रक्रिया के दौरान खुद को ज्यादा तेजी से आगे नहीं बढ़ाऊं। “उन्होंने कहा, “मुझे खुशी है कि मैंने तीन मैच खेल लिये। कोर्ट पर वापसी करने से बेहतर अहसास कुछ नहीं है।”

    फेडरर आठ अगस्त को 40 वर्ष के हो जायेंगे और वह 2020 आस्ट्रेलियाई ओपन के बाद अपना पहला मेजर खेल रहे थे। उस टूर्नामेंट के तुरंत बाद उन्हें अपने दायें घुटने की दो सर्जरी करानी पड़ी। वर्ष 2009 में फ्रेंच ओपन में खिताब जीतने वाले फेडरर ने क्ले कोर्ट स्लैम के लिये पेरिस पहुंचने से पहले इस सत्र में केवल तीन मैच खेले थे।

    फेडरर ने पिछले महीने स्पष्ट किया था कि वह इस बार खुद को फ्रेंच ओपन खिताब की दावेदारी के लिये तैयार नहीं देख रहे है, बल्कि उनकी निगाहें ग्रास कोर्ट मेजर विम्बलडन पर लगी हैं जिसमें वह रिकार्ड आठ बार खिताब जीत चुके हैं जो ऑल इंग्लैंड क्लब में 28 जून से शुरू होगा। फेडरर ने 59वीं रैंकिंग पर काबिज डॉमिनिक कोफर को तीसरे दौर में 7-6 (5), 6-7 (3), 7-6 (4), 7-5 से हराया था। यह मैच शनिवार की रात शुरू होकर रविवार को एक बजे तक चला था।

    आठवीं वरीयता प्राप्त फेडरर को सोमवार को चौथे दौर के मैच में नौंवे वरीय माटियो बेरेटिनी से भिड़ना था जिसके विजेता का सामना नंबर एक नोवाक जोकोविच और गैर वरीय लोरेंजो मुसेटी के बीच क्वार्टरफाइनल के विजेता से होगा। टूर्नामेंट के निदेशक गॉय फोरगेट ने बयान में कहा, “रोलां गैरां टूर्नामेंट रोजर फेडरर के हटने से निराश है जिन्होंने बीती रात मुकाबले में कड़ा जज्बा दिखाया। हम सभी रोजर को पेरिस में खेलते हुए देखकर खुश थे। हम उन्हें बचे हुए सत्र के लिये शुभकामनायें देते हैं।” (एजेंसी)